लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Agra ›   This recognition in the tricolor hand is enough...

तिरंगा हाथ में यही पहचान काफी है ...

Agra Bureau आगरा ब्यूरो
Updated Sun, 14 Aug 2022 11:24 PM IST
This recognition in the tricolor hand is enough...
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कासगंज। बज्मे शरार ने आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत मुशायरा व काव्य गोष्ठी का आयोजन संस्था के अध्यक्ष अब्दुल कदीर जिया के आवास पर किया गया। जिसमें शायरों ने एक से बढ़कर एक कलाम पेश किए। अध्यक्ष अब्दुल कदीर ने कलाम पढ़ा कि तिरंगा हाथ में अपने यही पहचान काफी है, हमारे वास्ते तो बस हिंदुस्तान काफी है।

शायर हुजैफ अंसारी ने काव्य पाठ किया कि हम भारत के वीर हैं, अपनी आन पर जान लुटा देंगे, बुरी नजर से जो देखेगा उसका नाम मिटा देंगे। कवि शमशुद्दीन ने कलाम पेश किया कि आजादी का अमृत पीकर चले देश् के वीर। डा. मोहम्मद मियां ने पढ़ा कि आजादी की कभी शाम न होने देंगे, शहीदों की कुर्बानी बदनाम न होने देंगे, बची है खून की एक बूंद भी जब तक जिस्म में, भारत मां का आंचल नीलाम न होने देंगे।

कार्यक्रम में एसएस खान, साहिल खान, आमिर खान, डॉ. बहार मिया, होरीलाल व्यास, महावीर प्रसाद संगम, यासीन आतिश, तौसीफ अहमद ने भी कलाम पढ़े। इस दौरान शहजाद, डॉ. इरशाद अहमद, डॉ. सगीर अहमद, डॉ. अली इमरान, इरफान, अरूण कुमार, नितिज, अनुज कुमार आदि मौजूद रहे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00