लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

UP Election Results 2022: सत्ता की चाभी में दिनेश खटीक बने भाग्यवीर, दिलचस्प है हस्तिनापुर का इतिहास

रविंद्र चौहान, संवाद न्यूज एजेंसी, मेरठ Published by: कपिल kapil Updated Fri, 11 Mar 2022 10:50 AM IST
योगेश वर्मा, दिनेश खटीक और अर्चना गौतम।
1 of 5
विज्ञापन
जो हस्तिनापुर जीतता है, उसी की सरकार बनती है। हस्तिनापुर विधानसभा सीट को लेकर चला आ रहा ये मिथक इस बार भी नहीं टूटा। मेरठ में जहां भाजपा के दिग्गज हार गए वहीं, दिनेश खटीक ने इस सीट से दूसरी बार विधायक बनने का भी इतिहास बना दिया। सीट से जुड़े सरकार बनने को मिथक को लेकर पार्टी के नेताओं की भी इस सीट को लेकर काफी उत्सुकता रही। 

हस्तिनापुर सीट 1957 में प्रभाव में आई थी। 1967 तक यहां से कांग्रेस के विधायक चुने गए और उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार रही। 1967 के चुनाव में यह सीट सुरक्षित हो गई। वर्ष 1969 में यहां से भारतीय क्रांति दल के आशाराम इंदू विधायक बने तो चौधरी चरण सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।
राज्यमंत्री दिनेश खटीक।
2 of 5
1974 में कांग्रेस से रेवती शरण मौर्य जीते तो प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी। अगला चुनाव रेवतीशरण मौर्य 1977 में जनता पार्टी से लड़कर जीते तो प्रदेश में सरकार भी बदल गई। इस बार जनता पार्टी की सरकार बनी।
विज्ञापन
भाजपा विधायक दिनेश खटीक
3 of 5
1996 में इस सीट से अतुल कुमार खटीक निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीते। इसे इत्तेफाक ही कहेंगे प्रदेश में किसी भी पार्टी को वोट नहीं मिली और राष्ट्रपति शासन लग गया। ये अपवाद भी रहा वर्ष 2002 में सपा के प्रभुदयाल वाल्मीकि यहां से चुनाव जीते लेकिन सरकार भाजपा-बसपा गठबंधन की बनी। हालांकि गठबंधन एक साल भी नहीं चला और सपा ने आखिरकार जोड़तोड़ करके सरकार बना ली।
भाजपा विधायक दिनेश खटीक
4 of 5
वहीं 2007 में यहां से बसपा के प्रत्याशी योगेश वर्मा चुनाव जीते तो प्रदेश में बसपा की ही सरकार बनी। 2012 में सपा के प्रभु दयाल वाल्मीकि जीते तो प्रदेश में सपा की सरकार बनी। 2017 में भाजपा के दिनेख खटीक चुनाव जीते तो सूबे में भाजपा की ही सरकार बनी। इस बार भी ये मिथक बना रहा। अब 2022 में भी मेरठ में सात विधानसभा सीटों में से भाजपा तीन पर ही जीत हासिल कर पाई लेकिन, बहुमत प्रदेश में भाजपा को ही मिला।
विज्ञापन
विज्ञापन
दिनेश खटीक
5 of 5
ये चुने गए अब तक विधायक 
वर्ष - प्रत्याशी - पार्टी 
1957  विशंभर सिंह, कांग्रेस 
1962  पीतम सिंह, कांग्रेस 
1967 आरएल श्याक, कांग्रेस 
1969 आशाराम इंदू, भारतीय क्रांति दल 
1974  रेवतीशरण मौर्य, कांग्रेस 
1977  रेवतीशरण मौर्य, जनता पार्टी 
1980 झग्गड़ सिंह, कांग्रेस 
1985 हरशरण सिंह, कांग्रेस  
1994- गोपाल काली- भाजपा
1996 अतुल कुमार, निर्दलीय 
2007 योगेश वर्मा, बसपा 
2012 प्रभुदयाल वाल्मीकि, सपा 
2017 दिनेश खटीक, भाजपा
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00