बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान
Myjyotish

इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

ढोलना पुलिस ने तीन शातिर वाहन चोर मुठभेड़ में पकड़े

कासगंज। ढोलना थाना पुलिस ने शुक्रवार रात्रि को कासगंज- अलीगढ़ मार्ग पर बिलराम ईदगाह में पुलिस मुठभेड़ के दौरान तीन शातिर वाहन चोरों को गिरफ्तार करने में सफलता हांसिल की है। गिरफ्तार चोरों के पास से तीन तमंचे व कारतूस बरामद हुए हैं। पूछताछ के बाद चोरों की निशानदेही पर चार बाइकें व एक कटी बाइक को पुलिस ने बरामद किया है। सभी आरोपियों को पुलिस ने जेल भेज दिया है।
एसपी रोहन प्रमोद बोत्रे ने बताया कि वाहन चोर गिरोह की सक्रियता के बारे में पुलिस को मुखबिर के माध्यम से जानकारी मिली। इस जानकारी पर थाना ढोलना पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के सदस्यों की घेराबंदी की। पुलिस को देख बदमाशों ने फायर किए, लेकिन बचाव करते हुए पुलिस ने तीनों शातिरों को दबोच लिया। आरोपी शैलेन्द्र निवासी निहालपुर थाना मारहरा जनपद एटा, दीपक एवं अंकित निवासी मौहल्ला मण्डी कस्बा बिलराम को गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस ने दबोचे गए आरोपियों से पूछताछ की तो वाहन चोरी के मामले प्रकाश में आए। आरोपियों ने एक बाइक गोसपुर भूपालगढ़ी के यत्येंद्र की 13 सितंबर को चुराई थी। यह बाइक भी बरामद हुई है। इसका मामला पहले से ही थाना ढोलना में दर्ज है। अन्य बाइकें अलग अलग स्थानों से चोरी की गई हैं। जिसके संबंध में पुलिस जानकारी जुटा रही है। पुलिस ने तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया है।
रिपोर्ट एवं संपादन अजय झंवर
... और पढ़ें

हरियाणा की 28 पेटी अवैध शराब आबकारी विभाग ने की बरामद

कासगंज। शनिवार की शाम आबकारी विभाग ने जिले में बड़ी कार्रवाई की है। ढोलना थाना क्षेत्र के अंतर्गत बिलराम के समीप से हरियाणा प्रांत की देशी शराब बरामद की है। 28 पेटी शराब की कीमत लगभग दो लाख रुपए बताई गई है। आबकारी विभाग और पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में लिया। जिससे पूछताछ की जा रही है ,हालांकि अभी उसका नाम उजागर नहीं किया गया है।
शनिवार को जिला आबकारी अधिकारी श्याम कमल सिंह को सूचना मिली कि बिलराम के समीप हरियाणा ब्रांड की देसी शराब की बिक्री की जा रही है और बड़ी मात्रा में शराब एक घेर में बने कमरे में भंडारित है। सूचना पर आबकारी अधिकारी के नेतृत्व में निरीक्षक प्रथम तुषार गौरव, द्वितीय परमहंस सिंह विभाग की टीम के साथ मौके पर पहुंचे और बताए गए स्थान पर छापा मारा तो यह बड़ा खुलासा हो गया। पुलिस ने मौके से 28 पेटी हरियाणा प्रांत की देशी शराब की बरामद की है। इसकी कीमत लगभग दो लाख रुपए है। आबकारी विभाग की इस कार्रवाई से खलबली मची हुई है। एक आरोपी को हिरासत में लिया गया है। पुलिस अभी उसे संदिग्ध मान रही है, लेकिन पूछताछ में स्थिति स्पष्ट होने के बाद अग्रिम कार्रवाई करेगी।
सूचना मिली थी कि हरियाणा ब्रांड की देसी शराब बिलराम के समीप बिक्री की जा रही है। इसी सूचना पर छापामार कार्रवाई की गई और 28 पेटी शराब जिसकी कीमत लगभग दो लाख रुपए है, बरामद कर ली गई है। - श्याम कमल सिंह, जिला आबकारी अधिकारी।
... और पढ़ें

कासगंज में मुठभेड़: पुलिस ने तीन शातिर वाहन चोरों को किया गिरफ्तार, चार बाइक बरामद

कासगंज जिले में ढोलना थाना पुलिस ने शुक्रवार रात को कासगंज-अलीगढ़ मार्ग पर बिलराम ईदगाह के समीप मुठभेड़ के दौरान तीन शातिर वाहन चोरों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार चोरों के पास से तीन तमंचे व कारतूस बरामद हुए हैं। पूछताछ के बाद चोरों की निशानदेही पर चार बाइकें व एक कटी बाइक को पुलिस ने बरामद किया है। सभी आरोपियों को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

एसपी रोहन प्रमोद बोत्रे ने बताया कि वाहन चोर गिरोह की सक्रियता के बारे में पुलिस को मुखबिर के माध्यम से जानकारी मिली। इस जानकारी पर थाना ढोलना पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के सदस्यों की घेराबंदी की। पुलिस को देख बदमाशों ने फायर किए, लेकिन बचाव करते हुए पुलिस ने तीनों शातिरों को दबोच लिया। 

आरोपी शैलेन्द्र निवासी निहालपुर थाना मारहरा जनपद एटा, दीपक एवं अंकित निवासी मौहल्ला मण्डी कस्बा बिलराम को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की तो वाहन चोरी के मामले प्रकाश में आए। आरोपियों ने एक बाइक गोसपुर भूपालगढ़ी के यत्येंद्र की 13 सितंबर को चुराई थी। 

यह बाइक भी बरामद हुई है। इसका मामला पहले से ही थाना ढोलना में दर्ज है। अन्य बाइकें अलग अलग स्थानों से चोरी की गई हैं। जिसके संबंध में पुलिस जानकारी जुटा रही है। पुलिस ने तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया है।
... और पढ़ें

पितृ पक्ष 2021: इस वर्ष 16 नहीं 17 दिनों तक होगा श्राद्ध कर्म, जानें तर्पण के लिए खास तिथियां

श्राद्ध पक्ष भाद्रपद शुक्ल पूर्णिमा से आश्विन कृष्ण अमावस्या तक 16 दिनों तक चलता है। हालंकि इस वर्ष 16 श्राद्ध 17 दिनों के हैं। सोमवार से पितृ पूर्णिमा से श्राद्ध पक्ष शुरू हो गए, जो 6 अक्टूबर को सर्व पितृ अमावस्या तक रहेंगे। ये सोलह दिन पितरों के ऋण चुकाने के दिन हैं। पितृ पक्ष में परिजनों की मृत्यु तिथि पर श्राद्ध व तर्पण करने से उनकी तृप्ति होती है। ज्योतिषाचार्य रामचंद्र शर्मा ने बताया कि इस वर्ष 26 सितंबर को कोई श्राद्ध कर्म नहीं होगा। 

धर्मशास्त्रीय मतानुसार श्राद्ध का समय अपरान्ह काल है। इस समय पितृ द्वार पर आते हैं। वायु पूराण के अनुसार इन सोलह दिनों में जो खाद्य पदार्थ आदि दिया जाता है वह अमृत रूप होकर पितरों को प्राप्त होता है। श्राद्ध में श्रद्धा, शुद्धता व पवित्रता जरूरी है।

पितरों का आलय है पितृ पक्ष 
ज्योतिषाचार्य ने बताया कि पितृ पक्ष में पितर पितृलोक से मनुष्य लोक में आशा लेकर आते हैं। यह देखते हैं कि उनके परिजन उनकी तिथि पर श्राद्ध कर्म करते हैं या नहीं। ऐसा वे अमावस्या तक देखते हैं। जो पितरों की तिथि अथवा अमावस्या पर श्राद्ध कर्म करते है वे उन्हें आशीर्वाद प्रदान कर चले जाते है। यह पक्ष पितरों का आलय कहलाता है। यह समय उनका सामूहिक पर्व भी माना जाता है। 
... और पढ़ें
श्राद्ध 2021 श्राद्ध 2021

पितृ पक्ष 2021: कासगंज में गंगा घाटों पर उमड़ा श्रद्धा का सैलाब, पितृ पूर्णिमा पर किया पितरों का श्राद्ध

कासगंज जिले में सोमवार को पितृ पूर्णिमा के अवसर पर गंगा घाटों पर श्रद्धा का सैलाब उमड़ा। पितरों की आत्मा शांति और मोक्ष की कामना के लिए श्रद्धालुओं ने तर्पण किया। गंगा स्नान के बाद तर्पण कर ब्राह्मणों को भोज कराया और दान-दक्षिणा दी। दिनभर हर-हर गंगे के जयकारे गंगा घाटों पर सुनाई देते रहे।

पितरों को प्रसन्न करने के लिए श्राद्ध पक्ष के पहले दिन सोमवार को सूकरक्षेत्र सोरों के हरिपदी घाट पर श्रद्धालुओं ने विधि-विधान से मंत्रोच्चार के साथ पितरों का श्राद्ध किया। गंगा के हरिपदी, लहरा, कछला, कादरगंज घाटों पर श्रद्धालुओं ने जलदान किया। दूरदराज इलाकों से आने वाले श्रद्धालु एक दिन पूर्व ही गंगा घाटों पर पहुंच गए। यहां धर्मशालाओं, पुरोहित आवासों, स्कूलों, घाट किनारे डेरा जमा लिया। 
... और पढ़ें

गन्ना भुगतान: इस साल 50 फीसदी भुगतान हीं कर सकेगी चीनी मिल

कासगंज। इस साल गन्ना बिक्री के एवज चीनी मिल पर बकाए भुगतान की आस लगाए बैठे किसानों की उम्मीद पूरी नहीं हो पाएगी। न्यौली चीनी मिल से विभाग द्वारा संकलित की गई जानकारी में स्पष्ट हुआ है कि चीनी मिल इस बार मात्र 50 फीसद भुगतान हीं किसानों को कर सकेगी। गन्ना विभाग चीनी बिक्री का सत्यापन करेगा। अब तक के सत्यापन में स्पष्ट हुआ है कि इस बार तैयार की गई अधिकांश चीनी की बिक्री कर दी गई है, लेकिन भुगतान पुराने सत्र का पूरा करने पर जोर है।
जिले में एकमात्र चीनी मिल है। कासगंज जिले के ही नहीं बल्कि पड़ोसी जिला बदायूं ,अलीगढ़ के भी किसान यहां गन्ना बिक्री करते हैं। इस साल किसान उम्मीद लगाए बैठे थे कि जल्द से जल्द पूरा भुगतान हो जाएगा, लेकिन अब उनकी इस उम्मीद पर पानी फिर रहा है, क्योंकि गन्ना विभाग द्वारा पूर्व में जो नोटिस जारी किया गया था उसके जवाब में न्यौली चीनी मिल ने स्पष्ट किया है कि पुराने सत्र का भुगतान बकाया होने के कारण इस सत्र का पूरा भुगतान करना संभव नहीं है।
इस सत्र में तैयार की गई चीनी बिक्री से पुराने सत्र के भुगतान को प्राथमिकता दी जा रही है। इधर गन्ना विभाग ने फिर से चीनी मिल को नोटिस जारी कर स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि अधिक से अधिक भुगतान करने की कोशिश करें। हालांकि अब चीनी मिल के स्पष्टीकरण से स्थिति साफ हुई है कि किसानों को इस सत्र में बिक्री किए गए गन्ने का पूरा भुगतान नहीं हो सकेगा।
गन्ना किसान हरवीर सिंह, पहलवान सिंह, राकेश कुमार कहते हैं कि न्यौली चीनी मिल का रवैया पिछले कई सालों से इसी तरह का है। चीनी मिल पूरे साल भुगतान नहीं कर पाती है। जबकि नई पेराई सत्र में फिर से गन्ना बिक्री कर दिया जाता है। किसानों का करोड़ों रुपए बकाया रह जाता है। किसान अन्य स्रोतों से कर्ज लेते हैं।
न्यौली चीनी मिल में भंडारित चीनी का सत्यापन समय-समय पर किया जाता है। इस बार स्थिति स्पष्ट हुई है कि चीनी मिल में जो चीनी अब तक बिक्री की है। उससे पुराने सत्र और नए सत्र दोनों का भुगतान किया जा रहा है। पुराने सत्र का पूरा भुगतान करने पर चीनी मिल जोर दे रही है। नोटिस जारी किया गया है कि इस सत्र का भी अधिक से अधिक भुगतान करें।
ओम प्रकाश यादव, जिला गन्ना अधिकारी
... और पढ़ें

विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

कासगंज। सोरों के मोहल्ला चंडौस में विवाहिता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने महिला के पति और ससुर का हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।
फर्रुखाबाद नवाबगंज के नगला कुंदन निवासी कृष्णा (25) पुत्री रोशन सिंह की शादी 11 माह पूर्व मनोज पुत्र महावीर निवासी चंडौस सोरों के साथ हुई थी। उसने रविवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जब इसकी जानकारी उसके भाई रनवीर सिंह को हुई तो वह अन्य लोगों के साथ चंडौस पहुंच गया, लेकिन उसे बहन का शव नहीं मिला।
पता चला कि शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इसके बाद वह तथा मायके पक्ष के अन्य लोग पोस्टमार्टमगृह पहुंच गए। कृष्णा का शव देखते ही चीत्कार मच गयी। रनवीर ने बताया कि उसकी बहन को ससुरालीजन दहेज की खातिर उत्पीड़न कर रहे थे। कुछ दिन पहले ही एक भैंस भी बहन के ससुरालीजनों को दी थी।
कोतवाली प्रभारी अनिल कुमार ने बताया कि पुलिस ने पूछताछ के लिए पति व ससुर का हिरासत में लिया है। अभी पुलिस को मामले की तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई करेेगी।
... और पढ़ें

खेत पर पानी देने गए ग्रामीण की गोली मारकर हत्या

कासगंज। अमांपुर के ग्राम सुजरई में खेत पर पानी देने गए किसान की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने तहरीर के आधार पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
सुजरई निवासी हरपाल (62) पुत्र खूबीराम रविवार को दोपहर में अपने धान के खेत में पानी लगाने के लिए गया था। देर सांय तक जब वह वापस लौटकर नहीं आया तो उसका पुत्र अवधेश खेत पर उनको बुलाने के लिए चला गया। जब वह दिखाई नहीं दिए तो उसने खेत पर उनकी तलाश की। वहीं कुछ दूरी पर ही वह लहुलुहान अवस्था में पड़े दिखाई दिए। उनकी कनपटी पर गोली का निशान दिखाई दिया। उसने मामले की जानकारी परिजनों का दी। सूचना पर परिजन मौके पर आ गए।
काफी संख्या में ग्रामीण भी एकत्रित हो गए। परिजन उनको आनन-फानन में अस्पताल ले गए, लेकिन रास्ते में उनकी मौत हो गई। चिकित्सकों ने उनको मृत घोषित कर दिया। उनकी मौत होते ही परिजन चीत्कार कर उठे। घटना की सूचना पर कोतवाली पुलिस अस्पताल पर पहुंच गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। परिजनों ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर लिया। कोतवाली प्रभारी मृदुल कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

कन्नौज का रहने वाला निकला लावारिस बालक

कासगंज। रेलवे स्टेशन पर एक दिन पूर्व लावारिस घूमते मिला बालक कन्नौज का रहने वाला निकला। चाइल्ड लाइन ने उसके परिजनों को खोज निकला। बाल कल्याण समिति ने बालक को परिजनों के सुपुर्द कर दिया है।
रेलवे स्टेशन पर 18 सितंबर को आरपीएफ को बालक लावारिस घूमते मिला था। बालक ने अपना नाम बृजकिशोर तिवारी (15) पुत्र सुरेश तिवारी बताया था, लेकिन उसने अपना सही पता नहीं बताया। वह अपने को फर्रुखाबाद का रहने वाला बता रहा था। आरपीएफ ने बालक को चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया।
चाइल्ड लाइन ने बालक के परिजनों की तलाश शुरू कर दी। काफी प्रयास के बाद उसके परिजनों को चाइल्ड लाइन ने तलाश लिया। बालक ग्राम नतौली थाना तिरउआ जिला कन्नौज का रहने वाला निकला। बाल कल्याण समिति ने बालक को परिजनों के सुपुर्द कर दिया। डायरेक्टर ने टीम को को 500 रुपये का पुरस्कार दिया।
डायरेक्टर हरिओम वर्मा ने बताया कि पूछताछ में बालक के एक पखवाडे़ से अपने घर से लापता होने की जानकारी सामने आई। कन्नौज में एक चाय विक्रेता उससे ट्रेन में मूंगफली की बिक्री कराता था। इस संबंध में पूरी जांच कराई जा रही है। कोऑर्डिनेटर प्रमोद कुमार, सदस्य महेश कुमार, कमलेश कुमार, अनीता पाल का सहयोग रहा।
... और पढ़ें

जानलेवा बुखार से जिले में दो और महिलाओं की मौत

कासगंज/ गंजडुंडवारा। जिला में जानलेवा बुखार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा। गंजडुंडवारा क्षेत्र के गनेशपुर में मौत का सिलसिला लगातार जारी है। गांव की एक युवती की बुखार से मौत हो गई। वहीं कादरगंज पुखता में एक किशोरी की बुखार से मौत हो गई।
लगातार हो रही मौतों से लोगों में दहशत बनी हुई है। गनेशपुर निवासी शबनूर (26) पुत्री कदीर को 8 दिन पहले तेज बुखार आया। निजी चिकित्सक को दिखाने के बाद भी जब हालत नहीं सुधरी तो परिजन उसे अलीगढ़ उपचार के लिए ले गए। देर रात्रि उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। उसकी मौत होते ही परिजन चीत्कार कर उठे।
कादरगंज पुख्ता निवसी कुसमा(14) पुत्री एवरन सिंह को 2 सप्ताह पहले बुखार आया। परिजनों ने पहले गाँव के चिकित्सक को दिखाया। इसक बाद वे उसे बदायूं ले गए। बुखार से राहत न मिलने पर उसे आगरा ले जाया गया, लेकिन चिकित्सकों ने उसे बाहर ले जाने की सलाह दी। परिजन उसे जयपुर ले गए जहां उसने शनिवार की रात्रि को दम तोड़ दिया। उसकी मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया।
क्षेत्र में बुखार का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। गनेशपुर के हालत सुधर नहीं पा रहे। म्याऊं में भी बुखार फैल हुआ है। अब कादरगंज पुख्ता भी बुखार की चपेट में आ चुका है। इस गांव की मेहरू निशा (10) , मुशीर(50), सचिन (10) पुत्र धारा सिंह काली चरण (55) बुखार की चपेट में है। बुखार पीडितों का बदायूं जनपद में इलाज चल रहा है। इसके आलावा कासगंज क्षेत्र के अहरोली में भी बुखार का प्रकोप हो चुका है। सोरों क्षेत्र के कई गांव बुखार की चपेट में है। गांव से लेकर कस्वा एवं शहरी क्षेत्र तक लोग बुखार से पीड़ित है। बड़ी संख्या में लोग निजी चिकित्सकों एवं बाहरी जनपदों में अपना इलाज करा रहे हैं।
... और पढ़ें

कासगंज: खेत पर पानी देने गए ग्रामीण की गोली मारकर हत्या से सनसनी, छानबीन में जुटी पुलिस

कासगंज जनपद में अमांपुर के ग्राम सुजरई में खेत पर पानी देने गए ग्रामीण की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने तहरीर के आधार पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
घर वापस नहीं लौटा किसान
सुजरई निवासी हरपाल (62) पुत्र खूबीराम रविवार को दोपहर में अपने धान के खेत में पानी लगाने के लिए गया था। देर शाम तक जब वह वापस लौटकर नहीं आया तो उसका पुत्र अवधेश खेत पर उनको बुलाने के लिए चला गया। जब वह दिखाई नहीं दिया तो उसने खेत पर उनकी तलाश की। वहीं कुछ दूरी पर ही वह लहुलुहान अवस्था में पड़ा दिखाई दिया। उसकी कनपटी पर गोली का निशान दिखाई दिया। घटना की जानकारी परिजनों का दी गई।
अस्पताल ले गए परिजन
सूचना पर परिजन मौके पर आ गए। काफी संख्या में ग्रामीण भी एकत्रित हो गए। परिजन उसे अस्पताल ले गए, लेकिन रास्ते में उसकी मौत हो गई। अस्पताल में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। परिजनों में चीत्कार मच गया। घटना की सूचना पर कोतवाली पुलिस अस्पताल पर पहुंची।
पुलिस ने मामला किया दर्ज
पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। परिजनों ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर लिया। कोतवाली प्रभारी मृदुल कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

ये भी पढ़ें:
सुशील हत्याकांड: सीसीटीवी फुटेज से मिले पुलिस को सुराग, दुकान के पास ही बैठे थे बदमाश
आगरा: खुद को आईएएस बताने वाले यात्री ने रोकी राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन, आरपीएफ कर्मियों को धमकाया, रिपोर्ट दर्ज
परेशानी: कच्चे माल की कीमतों में बढ़ोत्तरी से चूड़ी उद्योग पर महंगाई की मार, इन सामानों के अचानक बढ़े दाम
... और पढ़ें

भाजपा की ट्रंप नमस्ते ने देश में फैलाया कोरोना : महान दल

सहावर। महानदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव देव मौर्य का नगर पंचायत अध्यक्ष जाहिदा सुल्तान के आवास पर स्वागत समारोह आयोजित किया गया। वहीं महानदल और सपा कार्यकर्ताओं के साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष ने बैठक कर सपा व महानदल की गठबंधन सरकार बनाने के लिए चुनावों में जुट जाने का आवाह्न किया। उन्होंने भाजपा की नाकामयाबियों को गिनाया।
महानदल राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि भारत में कोराना बीमारी भाजपा के ट्रंप नमस्ते कार्यक्रम से फैली। रेल, बस बंद कर उन्हें पैदल चलने पर मजबूर किया। उन्होंने कहा कि भाजपा की मानसिकता पिछड़ा वर्ग विरोधी है। महान दल ने ठाना है अब 2022 के चुनाव में अखिलेश यादव को ही मुख्यमंत्री बनाना है। पूर्व राज्य मंत्री मानपाल सिंह ने कहा कि भाजपा नेताओं ने हमेशा पिछड़े वर्ग के लोगों को वोट के रूप में इस्तेमाल किया है।
एटा जिलाध्यक्ष परवेज जुबैरी, चेयरमैन प्रतिनिधि मुईर अहमद खान, महान दल नेता जेपी मौर्या, सपा अल्पसंख्यक सभा जिलाध्यक्ष नेता मोहम्मद असद ने सभा को संबोधित किया। महानदल व अन्य नेताओं का फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया।इस दौरान महान दल राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुमन मौर्य, शैलेंद्र मौर्य, शिव कुमार यादव, राशिद अली, सपा नगर अध्यक्ष शहादत अली, पूर्व सपा नगर अध्यक्ष रशीद अहमद, यासीन खान आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

पितृपक्ष : संतानों के तर्पण से पितरों को मिलता है मोक्ष

सोरों(कासगंज)। सोमवार से पितृपक्ष शुरू हो रहा है। 17 दिन के इस पितृपक्ष में पितरों की आत्मा शांति के लिए तर्पण का दौर शुरू हो जाएगा। संतानों द्वारा पितरों की मोक्ष प्राप्ति के लिए तर्पण किया जाएगा। तीर्थनगरी सोरों के हरि की पौड़ी घाट पर तर्पण से आत्मशांति और मोक्षप्राप्ति की विशेष मान्यता है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार यहां तर्पण करने से पितरों का विशेष आर्शीवाद संतानों को मिलता है। इस पक्ष में वृक्ष, पशु पक्षी और जलचरों में भी पितरों के वास की मान्यता है।
धर्मशास्त्रों के अनुसार पितरों का पितृलोक चंद्रमा के उध्र्वभाग में माना गया है। दूसरी और अग्रिहोत्र कर्म से आकाश मंडल के समस्त पक्षी भी तृप्त होते हैं। पक्षियों के लोक को भी पितृलोक कहा जाता है। तीसरी ओर पितर हमारे वरुणदेव का आश्रय लेते हैं और वरुण देव जल के देवता हैं। अत: पितरों की स्थिति जल में भी बताई गई है। ज्योतिषाचार्य के मुताबिक काले तिल, कुश, चावल, जौ से तर्पण करना चाहिए। पिंडदान करने से पितरों की आत्मा को शांति मिलती ही है बल्कि मोक्ष भी प्राप्त होता है।
ज्योतिषाचार्य की बात-
ज्योतिष कर्मकांड विशेषज्ञ पंडित जगदीश महेरे का कहना है कि पितृपक्ष में पितर पृथ्वीलोक पर आकर अपनी संतानों द्वारा किए गए तर्पण से तृप्त होते हैं और आर्शीवाद देते हैं। ज्योतिषाचार्य कहते हैं कि शास्त्रों के अनुसार वृक्षों में पीपल, बरगद और बेल का वृक्ष, पक्षियों में कौवा, हंस, गरूण, पशुओं में कुत्ता, गाय, हाथी, जलचरों में मछली, कछुआ, नाग को पितरों का प्रतीक माना गया है।
वृक्षों की मान्यता-
पीपल- यह वृक्ष पवित्र वृक्ष है। इसमें जहां विष्णु का निवास है वहीं यह वृक्षरूप में पितृदेव हैं।
बरगद- इस वृक्ष में साक्षात शिव निवास करते हैं। बरगद के पेड़ के नीचे बैठकर पितरों की मुक्ति के लिए शिव की पूजा करनी चाहिए।
बेल- यदि पितृपक्ष में शिवजी को अत्यंत प्रिय बेल का वृक्ष लगाया जाए तो अतृप्त आत्मा को शांति मिलती है।
पक्षियों की मान्यता-
कौवा- कौवे को अतिथि आगमन का सूचक और पितरों का आश्रय स्थल माना जाता है।
गरूण- गरूण भगवान विष्णु के वाहन है। इनके नाम पर ही गरूण पुराण है।
पशुओं की मान्यता-
गाय- गाय में सभी देवी देवताओं का निवास माना गया है इसलिए ये पूजनीय है।
कुत्ता- कुत्ते को यम का दूत माना जाता है। इसलिए इसकी मान्यता है।
जलचरों की मान्यता
मछली- भगवान विष्णु ने एक बार मतस्य का अवतार लेकर मनुष्य जाति के असित्व को जल प्रलय से बचाया था।
कछुआ- हिंदूधर्म में कछुआ बहुत ही पवित्र उभयचर जंतु है। जो जल की सभी गतिविधियों को जानता है।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X