लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Moradabad ›   Many students could not give exam as University changes scheme

Rohilkhand University: विश्वविद्यालय ने अचानक बदली स्कीम, छात्रों की परीक्षा छूटी

संवाद न्यूज एजेंसी, मुरादाबाद Published by: प्राची प्रियम Updated Thu, 04 Aug 2022 02:46 PM IST
सार

कॉलेज में बदले समय का कोई नोटिस चस्पा न होने के कारण अधिकांश छात्र द्वितीय पाली के समय ही परीक्षा देने पहुंचे थे। इसके चलते उनकी परीक्षा छूट गई। इसके बाद छात्रों ने हिंदू कॉलेज में जमकर हंगामा किया।

छात्रों ने किया हंगामा
छात्रों ने किया हंगामा - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय द्वारा 3 अगस्त को अचानक स्कीम में बदलाव कर दिया गया। इसका खामियाजा सैकड़ों छात्रों को भुगतना पड़ा। 3 अगस्त के दिन द्वितीय पाली होने वाली परीक्षा गुरुवार 4 अगस्त को पहली पाली आयोजित हुई। इसके चलते छात्रों में भ्रम की स्थिति रही। छात्र द्वितीय पाली के समय परीक्षा देने पहुंचे थे जबकि पेपर पहली पाली में संपन्न हो चुका था। 


गुरुवार को हिंदू कॉलेज में बीए द्वितीय वर्ष का हिंदी भाषा का पेपर था। छात्रों का कहना है कि उनकी सभी परीक्षाएं अभी तक द्वितीय पाली में आयोजित हुई हैं। 3 अगस्त को विश्वविद्यालय ने परीक्षा स्थगित तो कर दी लेकिन 4 अगस्त को परीक्षा किस समय होगी यह नहीं बताया। स्कीम को ऑनलाइन अपडेट किया गया लेकिन इसकी जानकारी कॉलेज प्रशासन को भी नहीं थी। 


कॉलेज में बदले समय का कोई नोटिस चस्पा न होने के कारण अधिकांश छात्र द्वितीय पाली के समय ही परीक्षा देने पहुंचे थे। इसके चलते उनकी परीक्षा छूट गई। इसके बाद छात्रों ने हिंदू कॉलेज में जमकर हंगामा किया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पदाधिकारी भी मौके पर पहुंच गए और परीक्षा आयोजित करने के लिए दूसरी तिथि घोषित करने की मांग की। मौके पर पहुंचे सीओ कोतवाली महेश चंद्र गौतम और थाना प्रभारी कोतवाली ने छात्रों को समझाया। 

हिंदू कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सत्यव्रत सिंह रावत ने छात्रों को आश्वासन दिया कि वे उनकी बात विश्वविद्यालय प्रबंधन तक पहुंचाएंगे। प्राचार्य का कहना है कि स्कीम में अचानक बदलाव हुआ इसकी पूर्व सूचना कॉलेज प्रबंधन को भी नहीं दी गई थी। इसके चलते कॉलेज भी छात्रों को सूचना नहीं दे पाया। उन्होंने आश्वासन दिया है कि वे शनिवार तक विश्वविद्यालय प्रबंधन से बात करके छात्रों की समस्या का निराकरण कराएंगे। छात्रों का कहना है कि स्कीम में पहली बार परिवर्तन नहीं किया गया इससे पहले भी परिवर्तन हो चुके हैं और आगे भी ऐसा होने की आशंका है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00