विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

अधर्म पर धर्म की हुई जीत, धू-धू कर जला रावण

श्रावस्ती। अधर्म व अत्याचार पर धर्म की विजय का संदेश देने वाला विजय दशमी पर्व शुक्रवार को जिले में धूमधाम से मनाया गया। इसके लिए विभिन्न रामलीला मैदानों में 15 से 20 फीट ऊंचा रावण मेघनाथ व कुंभकरण का पुतला बनाया गया। जिसे प्रभु श्रीराम ने अपने अग्नि बाण से जलाकर राख कर दिया।
असत्य पर सत्य व अन्याय पर न्याय की जीत का प्रतीक विजयदशमी इकौना, गिलौला, सिरसिया, जमुनहा सोनवा, बदला, मल्हीपुर एवं मुख्यालय भिनगा सहित जिले के अन्य हिस्सों में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इसके लिए जहां जमुनहा के दशहरा मैदान में 20 फीट के रावण व मेघनाथ का पुतला बनाया गया था। वहीं सिरसिया व अन्य क्षेत्रों में रावण मेघनाथ के साथ कुंभकरण का भी पुतला बनाया गया। उसके अंदर पुआल, गोला, बारूद, व फुलझड़ियां भरी गई थीं। जिसे देखने के लिए काफी संख्या में क्षेत्रीय लोग शाम से ही देर रात तक मौजूद रहे।
प्रत्येक स्थान से रामलीला स्थल से भगवान श्रीराम व रावण अपनी सेनाओं के साथ युद्ध करते हुए रावण वध स्थल पहुंचे। जहां दोनों सेनाओं के मध्य घंटो युद्ध होता रहा। विभीषण के कहने पर प्रभु श्रीराम ने अपने अग्नि बाण को रावण की नाभि पर मारा। इससे वह धू-धू कर जलने लगा। इसके साथ ही मेघनाथ व कुंभकरण भी जल उठे। फिर क्या था पुतलों में भरे गोला व बारूद जलने से तीनों के परखचे उड़ गए। जिसे देख उपस्थित जन समुदाय का उत्साह अपने चरम पर पहुंच गया। रावण वध के पश्चात प्रभु श्रीराम ने माता सीता की अग्नि परीक्षा ली। इस दौरान दशहरा स्थल पर सुरक्षा के मद्देनजर काफी संख्या में पुलिस व होमगार्ड के जवान व क्षेत्रीय लोग मौजूद रहे।
... और पढ़ें

मुख्यमंत्री की सुरक्षा के मद्देनजर कड़ी की सुरक्षा व्यवस्था

श्रावस्ती। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल स्पोर्ट्स स्टेडियम भिनगा को अभेद दुर्ग बनाया गया है। कार्यक्रम स्थल पर चार अपर पुलिस अधीक्षक, सात पुलिस क्षेत्राधिकारी, बीस इंस्पेक्टर, 150 सब इंस्पेक्टर, 600 आरक्षी व दो कंपनी पीएसी तैनात रहेगी। शनिवार को एएसपी ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। साथ ही मातहतों को आवश्यक निर्देश भी दिए। वहीं, मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर इंडो-नेपाल सीमा पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है, जहां सीमा पार से आने-जाने वालों की निगरानी की जा रही है।
मुख्य रूप से कार्यक्रम स्थल तक जाने के लिए चार रास्ते बनाए गए हैं। इसमें से एक रास्ते का उपयोग मुख्यमंत्री को लाने व ले जाने के लिए किया जाएगा। दो रास्ते और बनाए गए हैं जिनका उपयोग आम लोगों के लिए होगा। एक मुख्य रास्ता भी बनाया गया है जिसे अति विशेष परिस्थिति के लिए सुरक्षित रखा जाएगा। वाहनों को खड़ा करने के लिए स्टेडियम के आगे खाली पड़ी भूमि का उपयोग किया जाएगा। अलग-अलग स्थानों पर आने-जाने के लिए मार्ग का डायवर्जन भी किया जाएगा। ये सभी स्थान पुलिसकर्मियों की निगरानी में रहेंगे। इसके लिए शनिवार को एसपी अरविंद कुमार मौर्य व एएसपी बीसी दुबे ने ड्यूटी पर तैनात कर्मियों के साथ बैठक की। इसमें निर्देश दिए कि ड्यूटी सुबह सात बजे से शुरू हो जाएगी, लेकिन कार्यक्रम स्थल 24 घंटे पूर्व से ही निगरानी में रहेगा।
... और पढ़ें

आज भिनगा आएंगे सूबे के मुखिया

श्रावस्ती। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आगमन जिले में रविवार अपराह्न 01:05 बजे होगा। वह करीब पौने दो घंटे स्पोर्ट्स स्टेडियम भिनगा में रुकेंगे। इस दौरान उनके द्वारा न सिर्फ विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को सम्मानित किया जाएगा बल्कि वह जिले की 87 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास भी करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री द्वारा जनसभा को भी संबोधित किया जाएगा। मुख्यमंत्री के आगमन से जिलेवासियों में उम्मीद की किरण फूटी है। चुनावी मौसम में मुख्यमंत्री के आगमन से लोग कई नई व बड़ी योजनाओं की घोषणा की उम्मीद लगा रहे हैं।
प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ आज भिनगा आ रहे हैं। वह अपराह्न 1:05 बजे स्पोर्ट्स स्टेडियम भिनगा में बने हैलीपैड पहुंचेंगे जहां पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार उनका करीब पौने दो घंटे का कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम के तहत वह विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों का सम्मान करने के साथ 87 योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास भी करेंगे। इसके साथ ही वह विशाल जनसभा को भी संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री द्वारा जनसभा को संबोधित करने को लेकर प्रशासन तैयारियां पहले ही पूरी कर चुका है। करीब दस हजार से अधिक लोगों को जनसभा में बुलाया जा सकता है जिनके बैठने की व्यवस्था पंडाल में की गई है।
मुख्य पंडाल के साथ दोनों अतिरिक्त पंडाल भी निर्मित किए गए हैं जिसमें लाभार्थियों के साथ साथ आम लोगों को बैठाया जाएगा। पंडाल की अगली पंक्ति उन लोगों के लिए सुरक्षित है जो मुख्यमंत्री से मिलकर सम्मानित होने वाले हैं। मंच के ठीक पीछे स्टेडियम की दीवार तोड़कर हैलीपैड बनाया गया है जहां से मुख्यमंत्री को सीधे मंच पर लाया जाएगा। इसके साथ आम लोगों के प्रवेश के लिए दो अलग-अलग रास्ते बनाए गए हैं।
यह पहला अवसर है जब इतना बड़ा पंडाल बनाया गया है, जहां दस हजार से अधिक लोगों के बैठने की व्यवस्था है। ग्राम प्रधान व ग्राम सचिव को एनयूएलएम लाभार्थियों, विभिन्न योजनाओं के लिए प्रशिक्षण ले चुके लाभार्थियों व कौशल केंद्र में प्रशिक्षण लेने वाले लाभार्थियों के साथ अन्य विभागों से जुड़े लाभार्थियों को लाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। सभी लाभार्थी समय से पहुंचें इसके लिए भी योजना बनाई गई है।
मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर शनिवार को कार्यक्रम स्थल का अधिकारियों ने जायजा लिया। साथ ही जरूरी निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल की व्यवस्था जांचने के लिए भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारियों सहित जनप्रतिनिधियों ने जायजा लिया। इस मौके पर संबंधित लोगों को आवश्यक सुझाव भी दिए गए।
मुख्यमंत्री 22483.58 करोड़ की 32 परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। 16561.13 करोड़ की 55 योजनाओं का लोकार्पण किया जाएगा। साथ ही मुख्यमंत्री द्वारा बीस लाभार्थियों को आवास, शौचालय, ओडीओपी व कृषि संबंधी योजनाओं का लाभ भी दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार अपराह्न 1:05 बजे स्पोर्ट्स स्टेडियम के पास निर्मित हैलीपैड पर उतरेंगे। यहां से दोपहर 1:15 बजे स्पोर्ट्स स्टेडियम भिनगा में कार्यक्रम स्थल पहुंचकर विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करेंगे। इस दौरान लाभार्थियों को प्रमाणपत्रों का वितरण किया जाएगा। इसके बाद मुख्यमंत्री द्वारा जनसभा को संबोधित किया जाएगा। अपराह्न 2:50 बजे मुख्यमंत्री हैलीपैड पहुंचेंगे, जहां से 2:55 बजे चौपाल सागर नानपारा रोड बहराइच के लिए रवाना होंगे।
... और पढ़ें

राप्ती नदी लाल निशान से ऊपर

श्रावस्ती। नेपाल के साथ ही जिले में हुई बरसात से एकबार फिर राप्ती का जलस्तर सोमवार देर रात खतरे के लाल निशान को पार कर गया। नदी खतरे के निशान से 50 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। इससे बाढ़ का पानी तटवर्तीय इलाकों के खेतों व गांवों में घुसने से धान की फसल के खेत में ही सड़ जाने की चिंता ने किसानों की परेशानी और बढ़ा दी है।
नेपाल के पहाड़ी इलाकों के साथ ही जिले में रविवार दोपहर से ही बरसात के कारण नदी का जलस्तर सोमवार देर रात एक बार फिर से खतरे के लाल निशान को पार कर गया। जमुनहा के राप्ती बैराज पर लिए गए माप में नदी का जलस्तर मंगलवार सुबह दस बजे 128.20 मीटर मापा गया। यह खतरे के निशान से 50 सेंटीमीटर ऊपर था। यहां खतरे का लाल निशान 127.70 मीटर पर है। बैराज से पानी निकलने की स्थिति 59161 क्यूसेक प्रति घंटा है।
यह पानी तेजी से आगे बढ़ता हुआ तटवर्तीय इलाकों से बाढ़ का खतरा पैदा कर रहा है। नदी से सटे जमुहा, हरिहरपुररनी व इकौना के सुलतान जोत, चहलवा, लक्ष्मनपुर कोठी, नेवादा, डेहरिया, मोहम्मदपुर, धर्मनगर, गाजोबारी, मोहनपुर, टेपरा, वीरपुर लौकिहा, हंसनापुर, बरंगा, अशरफ नगर, लक्ष्मनपुर सेमरहनीय समेत दो दर्जन से अधिक गांवों के रास्तों पर दो से ढाई फिट पानी भरा हुआ है। जबकि राप्ती नदी के तलहटी स्थित खेतों में भी पानी भर जाने से वहां कटी पड़ी धान की फसल सड़ने लगी है। मंगलवार को नदी के तटीय क्षेत्रों में कई स्थानों पर परेशान किसान पानी में डूबी फसल को निकालते हुए भी देखे गए।
जिन स्थानों पर फसलें जलभराव के कारण डूबी हुई हैं, वहां 40 से 50 प्रतिशत तक का नुकसान हो सकता है। जहां फसल सिर्फ भीग गई हैं। वहां लगभग 25 प्रतिशत तक नुकसान संभावित है। ऐसे में किसानों को चाहिए कि वह फसल को कहीं ऊंचे स्थान पर फैला दें। ताकि फसल की नमी कम हो। इससे नुकसान को कम किया जा सकता है।
डॉ. आरपीएस रघुवंशी, वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष कृषि विज्ञान केंद्र श्रावस्ती
जिले में चल रही तेज हवाओं के साथ होने वाली बरसात के कारण धान की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है। यदि बरसात थमी तो कुछ नुकसान की भरपाई संभव है। यदि दोबारा बरसात हुई तो 60 से 70 प्रतिशत धान की फसल को नुकसान हो सकता है। इसकी भरपाई के लिए किसान अपने फसल का बीमा कराएं। जिन किसानों ने किसान क्रडिट कार्ड बनवा रखा है और उनके द्वारा फसल बीमा का पैसा दिया गया है तो उन्हें नुकसान की क्षतिपूर्ति मिलेगी। मौजूदा समय करीब बीस हजार किसानों की फसल का बीमा है। जिन्हें इसका लाभ दिलाया जाएगा।
डॉ. अवधेश कुमार यादव जिला कृषि अधिकारी
... और पढ़ें

जिम्मेदारी और स्नेह की भावना को प्रेरित करता स्काउट गाइड

श्रावस्ती। सत्यनारायण उच्च शिक्षण संस्थान तुलसीपुर में पांच दिवसीय स्काउट गाइड प्रशिक्षण शिविर का आयोजन रविवार से प्रारंभ हुआ। सोमवार को कार्यक्रम का शुभारंभ संस्थान के प्राचार्य ने ध्वजारोहण व मां सरस्वती के चित्र पर पुष्प अर्पित कर किया।
प्रशिक्षण शिविर के दौरान विद्यालय के प्राचार्य डॉ. सर्वजीत वर्मा ने कहा कि स्काउट्स एंड गाइड्स भारत का नेशनल स्काउटिंग एंड गाइडिंग एसोसिएशन है। स्काउट की स्थापना भारत में 1909 में हुई थी, जबकि गाइड इन इंडिया की शुरुआत 1911 में हुई थी। स्काउट गाइड जिम्मेदारी और भरोसेमंद स्नेह की भावना को प्रेरित करता है। जिसमें पहल और नेतृत्व विकास के लिए व्यक्तिगत अवसर हों। इससे आत्म-नियंत्रण, आत्मनिर्भरता और आत्म दिशा को बढ़ावा मिलता है। जिला स्काउट संगठन कमिश्नर रोहित पांडेय ने कहा कि स्काउट गाइड का उद्देश्य चरित्र का गठन, ध्वनि स्वास्थ्य की आदतों का निर्माण, हस्तकला में प्रशिक्षण और उपयोगी कौशल प्राप्त करने के साथ कुशलता से सेवा की एक उचित भावना को बढ़ाना है।
इस लक्ष्य का पीछा करने से लड़के और लड़कियों में अच्छी नागरिकता का विकास होता है। प्रशिक्षक अटल बिहारी पांडेय ने कहा कि स्काउट गाइड का मिशन स्काउट प्रॉमिस एंड लॉ पर आधारित मूल्य प्रणाली के माध्यम से युवा लोगों की शिक्षा में योगदान करना है। जिससे एक बेहतर दुनिया का निर्माण करने में मदद मिल सके। इस मौके पर राजेश कुमार यादव, श्वेता यादव के साथ ही संस्थान के प्रशिक्षु मौजूूद रहे। (संवाद)
... और पढ़ें

रात भर अंधेरे में रही पांच लाख की आबादी

श्रावस्ती। जिले का अधिकांश हिस्सा रविवार पूरी रात अंधेरे में रहा। बरसात व तेज हवाओं के कारण आए फाल्ट को सोमवार दूसरे दिन देर शाम तक ठीक नहीं किया जा सका। जबकि कई फीडरों में विद्युत बदहाली की स्थिति इससे भी ज्यादा समय के लिए रही।
भिनगा नगर में खैरीमोड़ से आगे के इलाकों में रविवार रात करीब 11 बजे से बिजली आपूर्ति बाधित हो गई। इसका कारण विभाग ने रोडवेज बस स्टैंड के पास तेज हवाओं के कारण तार टूटना बताया। विद्युत कर्मियों ने इस तार को ठीक करने के लिए रात में मशक्कत की। लेकिन पूरी रात बिजली बहाल तो हुई नहीं। बल्कि सोमवार पूरा दिन इसे ठीक करने की कवायद विद्युत निगम करता रहा। जिसके चलते इस क्षेत्र के करीब 700 से अधिक उपभोक्ता 24 घंटे से अधिक समय अंधेरे में रहे। नगर की विद्युत आपूर्ति बाधित होने के कारण व्यावसायिक प्रतिष्ठान भी बंद रहे।
वहीं दूसरी ओर भंगहा फीडर में रविवार में दिन के 11 बजे ही विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई। इसके बाद विद्युत कर्मी सोमवार पूरे दिन तक यह तक पता नहीं लगा पाए कि यह फाल्ट कहां से आई। जिसके चलते करीब डेढ़ लाख लोग अंधेरे में है। इन्हें आपूर्ति कब मिलेगी इसकी जानकारी भी अभी तक नहीं मिल पाई है। जबकि सेमरी व लक्ष्मनपुर फीडर की आपूर्ति भी रविवार से बाधित है।
यही हाल विद्युत उपकेंद्र बगुरइयां का भी रहा। जहां कलेक्ट्रेट फीडर, मछरिहवा फीडर की आपूर्ति पूरी तरह से बाधित रही। जिसे सोमवार शाम तक बहाल नहीं किया जा सका था। विद्युत लाइनों व फीडरों में आई फाल्ट के कारण जिले के अधिकांश क्षेत्रों में पूरी रात तो अंधेरा छाया ही रहा। सोमवार दिन में भी विद्युत आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी। जिसके चलते जिले में करीब पांच लाख लोग प्रभावित हुए। इस बारे में एसडीओ विद्युत राजकुमार यादव बताते हैं कि भिनगा नगर सहित कई क्षेत्रों की विद्युत आपूर्ति बहाल करा दी गई है। कलेक्ट्रेट सहित अन्य क्षेत्रों की आपूर्ति बहाल कराने के लिए प्रयास किया जा रहा है। उम्मीद है देर शाम तक आपूर्ति बहाल करा दी जाएगी।
... और पढ़ें

योगीराज में दलितों का हो रहा समग्र विकास

श्रावस्ती। उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष सोमवार को भिनगा पहुंचे। जहां उन्होंने लोक निर्माण विभाग के गेस्ट हाउस सभागार में बैठक की। इस दौरान उन्होंने पात्रों को स्वीकृति पत्र व सिलाई मशीन आदि का वितरण किया।
इस दौरान उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश की जनता भयमुक्त है। माफिया व गुंडे या तो प्रदेश छोड़ चुके हैं या जेल में हैं। योगीराज में दलितों का समग्र विकास हो रहा है। देश एवं प्रदेश की सरकार जन जन के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध है।
अनुसूचित जाति के लोग सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठाएं। सरकार योजनाओं को धरातल पर उतारकर बिना भेदभाव के पात्रता के आधार पर सभी को लाभान्वित करा रही है। इस मौके पर जिला समाज कल्याण अधिकारी राकेश रमन, जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी चमन सिंह सहित संबंधित अधिकारी, कर्मचारी व लाभार्थी मौजूद रहे। (संवाद)
... और पढ़ें

हत्यारोपी आला कत्ल के साथ गिरफ्तार, भेजा गया जल

श्रावस्ती। गिलौला थाना क्षेत्र में हुई हत्या के मामले में वांछित आरोपी को रविवार रात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जिसके विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई कर गिलौला पुलिस द्वारा उसे संबंधित न्यायालय में पेश किया गया। जहां से आरोपी को जेल भेजा गया है।
गिलौला थाना क्षेत्र के नगरौरा गांव निवासी बच्छराज उर्फ गोडनी नट की पुत्र-पुत्री द्वारा डंडे से पीट कर एक युवक की हत्या कर दी गई थी। इसके बाद से आरोपी घर छोड़ कर फरार था। जिसके विरुद्ध गिलौला थाने में हत्या का मामला दर्ज किया गया था।
साथ ही आरोपी की गिरफ्तारी के लिए थानाध्यक्ष गिलौला अखिलेश कुमार पांडे द्वारा मुखबिरों का सहारा लिया जा रहा था। मुखबिर की सूचना पर थानाध्यक्ष ने हमराहियों के साथ छापा मारकर आरोपी बच्छराज को औरैया निधान मंदिर के पास से गिरफ्तार कर लिया। जिसकी निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त डंडा भी पुलिस ने बरामद कर लिया। जिसे सोमवार को संबंधित न्यायालय में पेश किया गया। जहां से आरोपी को जेल भेजा गया है। (संवाद)
... और पढ़ें

त्योहारों के जश्न में न भूलें जिम्मेदारी, टीकाकरण जरूरी

श्रावस्ती। त्योहारों का दौर शुरू हो चुका है। नवरात्र और दशहरा के बाद अब करवा चौथ, धनतेरस, दीपावली गोवर्धन पूजा सहित अन्य त्योहारों की धूम रहेगी। इसके लिए प्रशासन ने एडवाइजरी जारी की है। जिसमें टीकाकरण के साथ त्योहार मनाने की अपील की गई है।
जारी एडवाइजरी में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एपी भार्गव ने कहा है कि जिले में कोविड स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। लेकिन त्योहार के सीजन में बाजारों में भीड़भाड़ बढ़ी है। ऐसे में हमारी लापरवाही कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने में सहायक होगी। इसलिए हमें इस बात का ध्यान रखना होगा कि त्योहार के सीजन में भी कोरोना की स्थिति नियंत्रण में रहे और इसको लेकर हम सभी को जागरूक रहना होगा। उन्होंने कहा कि त्योहारों को धूमधाम से मनाने के अति उत्साह में हमें कोरोना वैक्सीनेशन को लेेकर सजग रहने की जरूरत है। हमें अपने निर्धारित समय पर आवश्यकतानुसार वैक्सीन की पहली अथवा दूसरी डोज लगवानी चाहिए। इसमें लापरवाही नहीं करनी चाहिए। बहुत जरूरी होने पर ही बाजार और भीड़भाड़ वाली दूसरी जगहों पर जाना चाहिए।
ऐसे में मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से किया जाना चाहिए। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए हमें कुछ बातों पर ध्यान देने की जरूरत है। हम समय पर कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा लें। इसके अलावा आवश्यकतानुसार और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए ही यात्रा करें और जिम्मेदारी के साथ त्योहार मनाएं। मास्क से अपने मुंह और नाक को अच्छी तरह से ढक कर रखें, बाहर की कोई भी चीज छूने से के बाद अपने हाथों को सैनिटाइज करें। बाहर से घर आने पर भी अपने हाथों को साबुन-पानी अथवा सैनिटाइजर से अच्छी तरह से धुलें।
... और पढ़ें

लापता किशोरी की लाश तालाब में मिली

गिलौला (श्रावस्ती)। पिपरा गोंसाई गांव निवासिनी एक किशोरी शनिवार रात संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई थी। रविवार सुबह उसकी लाश गांव के बाहर तालाब में पाई गई। सूचना पर पहुंची गिलौला पुलिस ने लाश का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
गिलौला थाना क्षेत्र के ग्राम पिपरा गोसाई निवासी पूजा देवी (14) पुत्री अलखराम शनिवार रात घर से संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई। देर रात जगे परिवारीजनों ने घर में न पाकर उसकी तलाश शुरू की। रात में पूजा का कहीं पता नहीं चला। परिवारीजन सुबह जब गांव के पश्चिम में स्थित तालाब पहुंचे तो वहां पूजा की लाश उतराती हुई दिखी। घटना की जानकारी गिलौला पुलिस को दी गई।
सूचना के बाद मौके पर पहुंची गिलौला पुलिस ने लाश को तालाब से बाहर निकलवाया। जिसका पंचनामा भरकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेज दिया है। मौत के कारणों का अब तक पता नहीं चल सका है। (संवाद)
... और पढ़ें

नेता देते रहे भाषण खिसकती रही जनता

श्रावस्ती। मुख्यमंत्री के आगमन से उत्साहित नेताओं का उत्साह तेज हवाओं के साथ हुई बरसात ने ठंडा कर दिया। मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर को वापस होने की सूचना के बाद जहां नेताओं के चेहरों की हवाइयां उड़ गईं। वहीं नेताओं के भाषण के बीच जनता वापस लौटने लगी। इसके बाद आननफानन लाभार्थियों को सम्मानित किया गया। यह कार्यक्रम पूरा भी नहीं हुआ था कि तीनों ही पंडाल पूरी तरह से खाली हो गए।
स्पोर्ट्स स्टेडियम भिनगा में रविवार दोपहर एक बजे मुख्यमंत्री का कार्यक्रम प्रस्तावित था। इसके लिए सुबह 11 बजे से ही उन्हें सुनने के लिए भारी संख्या में लोगों की भीड़ एकत्र होने लगी थी। दोपहर एक बजे तब भीड़ का यह आलम रहा कि कार्यक्रम स्थल छोटा पड़ गया। लोग पंडाल से बाहर खड़े होकर मुख्यमंत्री के आने व उनको सुनने का इंतजार कर रहे थे। कार्यक्रम पर उमड़े जनसैलाब को देख नेता भी उत्साहित नजर आ रहे थे। लेकिन नेताओं के इस उत्साह को तेज हवाओं के साथ हुई बरसात ने ठंडा कर दिया। मुख्यमंत्री के आगमन से पूर्व चली तेज हवाओं के साथ शुरू हुई झमाझम बरसात के कारण न सिर्फ अफरातफरी का माहौल बन गया। बल्कि लोग सिर छिपाने के लिए कार्यक्रम स्थल पर बने तीनों पंडाल में पहुंच गए। जहां जगह न मिलने के बाद तमाम लोग वहां से निकल गए। मौसम सामान्य होते ही मुख्यमंत्री का आगमन होगा।
इस उम्मीद में लोग उनका काफी देर तक इंतजार करते रहे। इस दौरान उत्साहित नेता भी लोगों को संबोधित करते हुए उनका उत्साहवर्धन कर रहे थे। जैसे ही जिले के प्रभारी मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह का भाषण शुरू हुआ तभी यह सूचना आ गई कि मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर खराब मौसम के कारण नहीं उतर पाएगा। जिसे सुनते ही लोग एक-एक कर वापस लौटने लगे। जिसे देखकर प्रभारी मंत्री को अपना भाषण बीच में ही छोड़ कर लाभार्थियों को सम्मानित करना पड़ा। इससे पहले कि सभी लाभार्थियों का सम्मान हो पाता, तीनों ही पंडाल खाली होने लगे। कार्यक्रम को पूर्व सांसद व जिला पंचायत अध्यक्ष दद्दन मिश्र, श्रावस्ती विधायक रामफेरन पांडे, व्यापारी कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष मनीष गुप्ता ने भी संबोधित किया। इस मौके पर जिला प्रभारी राहुल राज रस्तोगी, देवेंद्र प्रताप सिंह सहित कई अन्य जनप्रतिनिधि व पार्टी पदाधिकारी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

कार्यक्रम स्थल पर अफरातफरी

श्रावस्ती। मुख्यमंत्री कार्यक्रम स्थल पर तेज हवा के साथ हुई बरसात से अफरातफरी फैल गई। टेंट के बाहर बैठे दर्शकों में भगदड़ मच गई तो सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी भी अपने वाहनों में बेठते दिखाई दिए।
मुख्यमंत्री कार्यक्रम के ठीक एक घंटा पहले तेज हवा के साथ बरसात होने लगी। इस मौके पर होर्डिंग व टेंट का कुछ हिस्सा हवा से उखड़ कर जमीन में गिर गया। टेंट के बाहर कुर्सियों में बैठे दर्शकों में अफरातफरी फैल गई। सभी पानी व तेज हवा से बचने के लिए इधर उधर भाग कर सुरक्षित स्थान की तलाश में लग गए। वहीं मौके पर शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैनात पुलिसकर्मियों में कुछ देर के लिए भगदड़ की स्थिति देखी गई। तेज बरसात के कारण पंडाल के बाहर तैनात पुलिसकर्मी मौके पर खड़े पुलिस वाहनों में सवार होते देखे गए। स्थिति यह रही कि कुछ देर तक मौके पर पुलिस का कोई भी प्रभाव देखने को नहीं मिला। लोग अव्यवस्थित तरीके से टहलते व अपने को बचाने के लिए इधर उधर बैठे देखे गए। बरसात के बाद पुलिसकर्मी पुन: अपनी ड्यूटी स्थल पर पहुंचे।
एलईडी टीवी गिरने से पुलिस कर्मी घायल
कार्यक्रम स्थल पर पंडाल में जगह जगह एलईडी टीवी लगाई गई थी। तेज हवा के कारण स्टैंड अचानक खड़े पुलिस कर्मी पर गिर गई। जिससे उसके सिर पर गंभीर चोट आई। वहां मौजूद स्वास्थ्य कर्मियों ने पुलिसकर्मी का प्राथमिक उपचार किया।
... और पढ़ें

लोकार्पण के पत्थरों से दिखा जिले के विकास का असंतुलन

श्रावस्ती। मुख्यमंत्री द्वारा किए गए वर्चुअल लोकार्पण व शिलान्यास में क्षेत्रीय विकास का असंतुलन साफ तौर पर देखने को मिला। लोकार्पण की गई परियोजनाओं में अधिकांश परियोजनाएं श्रावस्ती विधानसभा क्षेत्र की हैं। जबकि शिलान्यास की गई परियोजनाओं में संख्या तो बराबर है, लेकिन भिनगा विधानसभा क्षेत्र के हिस्से में मात्र दो ही नई परियोजनाएं आई हैं।
श्रावस्ती जिले में केवल दो विधानसभा हैं। यहां की जनसंख्या भी महज 12 लाख है। जिसमें से करीब सात लाख वोटर हैं। इस छोटे से जिले के विकास में कई वर्षों से असंतुलन की स्थिति है। प्रशासन द्वारा विकास के लिए जहां श्रावस्ती विधानसभा क्षेत्र को विशेष तवज्जो दिया जाता है। वहीं भारत नेपाल सीमा से सटे तराई वाले भिनगा विधानसभा को वह तवज्जो विगत साढ़े चार वर्ष से नहीं मिल पा रही है। इसका उदाहरण मुख्यमंत्री द्वारा किए गए वर्चुअल लोकार्पण व शिलान्यास से ही देखने को मिला।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिले में 390.45 करोड़ की 87 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। लेकिन यदि इन परियोजनाओं को विधानसभावार देखें तो श्रावस्ती विधानसभा क्षेत्र में कुल 29 व भिनगा विधानसभा क्षेत्र में 26 परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया। ऐसे ही यदि शिलान्यास की गई परियोजनाओं को देखे तो दोनों विधानसभा क्षेत्रों में 16-16 परियोजनाओं का वर्चुअल शिलान्यास हुआ। लेकिन श्रावस्ती विधानसभा क्षेत्र में शिलान्यास की गई परियोजनाएं 2020 व 2021 की स्वीकृत हैं। यानी कि जिन पर अभी कार्य प्रारंभ होना है। वहीं भिनगा विधानसभा क्षेत्र में किए गए शिलान्यास में उन परियोजनाओं को शामिल किया गया है जो 2018 व 2019 में स्वीकृत हो गई थीं। जिन पर 90 फीसदी से अधिक कार्य हो गया है।
यदि आंकड़ों पर गौर करें तो भिनगा विधानसभा क्षेत्र में लोकार्पण की सूची में शामिल 16 कार्यों में से वर्ष 2018 की एक परियोजना, 2019 की पांच व 2020 की छह परियोजनाएं शामिल हैं। यह सभी परियोजनाएं 90 फीसदी पूरी हो चुकी हैं। इन्हें मुख्यमंत्री द्वारा किए गए शिलान्यास सूची में इसलिए डाला गया है क्योंकि इन परियोजनाओं को पूरा करने के लिए सरकार ने पूरा बजट ही नहीं दिया। ऐसे में मुख्यमंत्री की घोषणा से आच्छादित होने पर यह उम्मीद अधिकारियों को है कि 26 अक्तूबर 2018 को स्वीकृत जमुनहा तहसील को जोड़ते हुए तलिकपुर मधवापुर घाट मल्हीपुर मार्ग सहित अन्य अधूरी परियोजनाओं को पूरा पैसा मिल जाएगा।
पूर्व के मुख्यमंत्री ने दी थी ज्यादा तवज्जो
भारत नेपाल सीमा से सटे भिनगा विधानसभा क्षेत्र के अधिकांश गांव जंगल, नदी से सटे हुए हैं। यहां विकास की रफ्तार बहुत मंद है। इसी विधानसभा के सिरसिया विकास खंड के थारू जनजाति के कई गांव है। इसीलिए पिछले सपा सरकार के तात्कालिक मुख्यमंत्री ने थारू बाहुल्य गांव मोतीपुर कला में पहुंच कर वहीं से पूरे प्रदेश में लागू होने वाली हौसला पोषण योजना का शुभारंभ किया था। उन्होंने इस गांव का चयन करने के बाद कहा था कि श्रावस्ती कुपोषण के मामले में प्रदेश में सबसे निचले पायदान पर है। इसलिए यहां से इस योजना की शुरुआत की जा रही है।
शिलान्यास व लोकार्पण की सूची में डाली गई समस्त परियोजनाओं का चयन जिला प्रशासन द्वारा किया गया है। विभाग ने केवल सूची उपलब्ध कराई थी।
-एसके हरित, अधिशाषी अभियंता पीडब्ल्यूडी
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00