बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान
Myjyotish

इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

डीआईओएस कार्यालय पर शिक्षकों ने किया प्रदर्शन

डीअ उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ (ठकुराई गुट) के बैनर तले शिक्षकों ने सोमवार को डीआईओएस कार्यालय में प्रदर्शन कर मांगों को लेकर हुंकार भरी। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा को संबोधित ज्ञापन डीआईओएस को सौंपकर कहा कि अगर उनकी 12 सूत्रीय मांगों को पूरा नहीं किया गया तो वह लोग अब सरकार से आरपार की लड़ाई लड़ी जाएगी।

प्रदर्शन के बाद शिक्षकों ने उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा को संबोधित एक ज्ञापन डीआईओएस को सौंपा। शिक्षकों ने कहा कि केंद्र की भांति प्रदेश में भी एक अप्रैल 2005 के पूर्व चयनित, लेकिन बाद में नियुक्त किए गए शिक्षकों को पुरानी पेंशन का लाभ दिया जाए।

ऑनलाइन स्थानांतरण को दूर किया जाए। कैशलेस प्रतिपूर्ति की सुविधा मुहैया कराई जाए। वित्तविहीन विद्यालयों के शिक्षकों को समान वेतन एवं सेवा सुरक्षा प्रदान की जाए। भ्रष्टाचार को रोकने के लिए विभागीय कार्यालयों में ई-फाइलिंग तथा चार दिन में फाइलों का निस्तारण कराया जाए।

सहायता प्राप्त हाईस्कूल के प्रधानाध्यापक का पदना प्रधानाचार्य ग्रेड-2 एवं साधारण वेतनमान ग्रेड पे-600 किया जाए। इस दौरान जिलाध्यक्ष अजय कुमार, रमाकांत त्रिपाठी, अवध कुमार, गंभीर सिंह, राजेश कुमार, विनोद कुमार यादव, डॉ. रवींद्र कुमार सिंह, कमलेश कुमार कुशवाहा, राजेंद्र कुमार, देव प्रकाश साहू, नृपेंद्र कुमार सिंह, डॉ. प्रदीप कुमार सिंह आदि शिक्षक मौजूद रहे।
... और पढ़ें

जुलूस के दौरान माइक में उतरा करंट, डीजे संचालक की मौत

अजुहा कस्बे के भौंतर में राम डोला के जुलूस (श्री कृष्ण जन्माष्टमी के बाद होने वाले महोत्सव) के दौरान माइक में उतरे करंट की चपेट में आकर डीजे संचालक की मौत हो गई। इससे जुलूस में अफरातफरी मच गई और पलभर में खुशियां मातम में तब्दील हो गईं। घटना से पीड़ित परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

सैनी कोतवाली के अजुहा कस्बे में हर साल भगवान कृष्ण की बरही के बाद राम डोला का जुलूस निकाला जाता है। इसमें कस्बे के अलावा आसपास के लोग भी शामिल होते हैं। शनिवार को भी राम डोला का जुलूस निकाला जा रहा था। कार्यक्रम में शामिल होने के लिए केन गांव का धर्मेंद्र कश्यप (40) भी गया था। धर्मेंद्र डीजे ऑपरेटर का भी काम जानता था।

बताते हैं कि जुलूस के दौरान अचानक माइक में कुछ खराबी आ गई। इस पर धर्मेंद्र को उसे ठीक करने के लिए बुलाया गया। जैसे ही धर्मेंद्र ने माइक पकड़ा तो वह करंट की चपेट में आ गया और नीचे गिरकर तड़पने लगा। इसके बाद मेले में अफरातफरी मच गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने धर्मेंद्र को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 
... और पढ़ें

पूर्व मंत्री के बेटे के नलकूप में पकड़ी गई बिजली चोरी

कोतवाली के बाले का पुरवा गांव में प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री स्व. छोटेलाल यादव के बेटे के निजी नलकूप में बिजली चोरी पकड़ी गई है। गोपनीय सूचना के आधार पर शनिवार देर रात बिजली विभाग की विजलेंस टीम ने छापे मारी की। छापे के दौरान पूर्व मंत्री के बेटे नलकूप से जुड़े एक भी दस्तावेज नहीं दिखा सके। फिलहाल टीम मौके का वीडियो बनाने के साथ ही प्रकरण की जांच कर रही है।

प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री स्व. छोटेलाल यादव बाले का पुरवा गांव के रहने वाले थे। आज भी उनका परिवार गांव में ही रहता है। उनके बेटे सपा की राजनीति करते हैं। शनिवार देर रात अचानक उनके निजी सबमर्सिबल में विजलेंस की टीम पहुंच गई। पता चला कि पांच साल पहले मंत्री के बेटे ने नलकूप का कनेक्शन कटवा लिया। इसके बाद भी वह चोरी से बिजली का उपभोग करते चले आ रहे थे। विजिलेंस प्रभारी सुशील कुमार ने बताया कि किसी ने गोपनीय शिकायत की थी कि पूर्व मंत्री का पुत्र बिना कनेक्शन लिए अपना ट्यूबबेल चला रहा है।

इस सूचना पर उन्होंने शुक्रवार को मौके पर छापे मारी की। जांच में पाया गया कि मंत्री के बेटे का एक पुराना बोर खराब हो चुका है। उसके बगल नया बोर कराकर उसी में नलकूप चलाया जा रहा था। पुराने कनेक्शन में पांच बिजली के पोल लगे थे। उसमें से दो पोल गायब पाए गए। नया ट्यूबवेल बिजली से चलता पाया गया है। इसके कनेक्शन के पेपर परिजन नहीं दिखा सके। उन्होंने अपनी रिपोर्ट एसडीओ सिराथू को सौप दी है। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई होगी। फिलहाल बिजली विभाग की कार्रवाई से इलाके में हड़कंप मचा रहा।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : देश में विघटनकारी शक्तियां हावी, ऐसी शक्तियों की साजिशों को करें नाकाम - आरिफ मोहम्मद खान

सैयदसरांवा गांव स्थित खानकाह-ए-अरिफिया दरगाह में रविवार को केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने हजरत आरिफ सफी की दरगाह में चादर चढ़ाई। दौरान राज्यपाल ने देश मे अमन, चैन कायम रखने के लिए दुआएं मांगीं। गांव में उनके स्वागत के लिए व्यवस्थाएं चाक चौबंद रहीं। यहां मदरसा में आयोजित कार्यक्रम में भी उन्होंने शिरकत की।

मदरसा के कांफ्रेंस हाल में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने देश के विकास और तरक्की के लिए आम आदमी से एकजुट रहने को कहा। उन्होंने कहा कि कि देश में इस समय विघटनकारी शक्तियां हावी हैं, ऐसी शक्तियों की साजिशों को किसी भी कीमत पर कामयाब ना होने दें। कार्यक्रम की सफलता के लिए पुलिस और स्थानीय प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद रहा। इस दौरान उन्होंने सैयद सरावा स्थित दरगाह पर जियारत कर चादर चढ़ाई और सूफी संत एहसानुल्लाह मोहम्मदी उर्फ अबु मियां से दुआएं मांगी। उन्होंने खानकाह को अमन व शांति का रूहानी मरकज बताया है। कार्यक्रम में हसन सईद, हुसैन सईद, अली सईद व मैनेजर साजिद सईदी मौजूद रहे।

राज्यपाल बनने से दो दिन पहले आए थे आरिफ मोहम्मद खान
मूलत: बुलंदशहर के बाराबस्ती निवासी आरिफ मोहम्मद खान रविवार को सैयद सरावां स्थित मदरसे में आकर अपने आप को खुशनसीब बताया। उन्होंने कहा कि वह दो साल पहले राज्यपाल बनने के दो दिन पहले यहां आए थे। इस दौरान उन्होंने दरगाह पर चादर चढ़ा कर मन्नत मांगी थी। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा मांगी गई मन्नत पूरी हुई। दो साल बाद वह फिर से दरगाह पर चादर चढ़ाने के लिए आए हैं।
... और पढ़ें
Kaushambi News :  कौशाम्बी में आयोजित कार्यक्रम में बोलते केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान। Kaushambi News : कौशाम्बी में आयोजित कार्यक्रम में बोलते केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान।

मगन सिंह हत्याकांड का खुलासा : प्रेम संबंध में रोड़ा बनने पर पत्नी ने ही प्रेमी संग मिलकर कराई थी हत्या

पूरामुफ्ती पुलिस ने राम मगन सिंह की हत्या का किया खुलासा कर दिया है। प्रेमी के साथ अवैध सम्बंध बनाने के रोड़ा बनने पर पत्नी रूमा सिंह ने ही प्रेमी के साथ मिलकर कराई थी पति की हत्या। भाड़े के शूटर को पांच लाख की दी गई थी सुपारी। एक सप्ताह की गहन छानबीन के बाद पुलिस ने घटना का किया खुलासा। पत्नी और उसके कथित प्रेमी सहित भाड़े के शूटर को गिरफ्तार का जेल भेज रही पुलिस। पिछले दिनों 12 सितंबर को पूरामुफ्ती के मंदर बाजार में गोली मारकर की गई थी राममगन सिंह की हत्या। 

बता दें कि प्रयागराज पूरामुफ्ती के मंदर बाजार के पास रविवार की देर शाम ड्राइवर के साथ घर लौट रहे एक ट्रैक्टर मालिक को बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। घटना को लेकर परिजनों में कोहराम मचा है। बदमशों ने ट्रैक्टर मालिक को गोली क्यों मारी? इसका पता लगाने के लिए पुलिस छानबीन में जुट गई है।

पिपरी कोतवाली के अकबरपुर मिर्जापुर निवासी मगन सिंह पटेल (35) अपने पिता का इकलौता पुत्र था। चार सार पहले उसके पिता हीरा लाल पटेल की भी हादसे में मौत हो चुकी है। पिता की मौत के बाद मगन सिंह पटेल खेत और घर की जिम्मेदारी सम्भालता था। इन दिनों मगन ने परिवार के भरण पोषण के लिए दो ट्रैक्टर खरीद रखा था। वह ट्रैक्टर से मकानों में पाइलिंग और पोल को गाड़ने का काम करता था।

रविवार को वह पूरामुफ्ती बाजार स्थित एक निर्माणाधीन माकान में पाइलिंग कर देर शाम करीब पांच बजे मंदर के रास्ते घर लौट रहा था। साथ मे उसका ड्राइवर मंगल ट्रैक्टर चला रहा था और मगन ट्रैक्टर पर बैठे था। दोनों लोग जैसे ही मंदर बाजार स्थित रेलवे क्रासिंग के पास पहुंचे तभी झाड़ियों में पहले से ही घात लगाए बैठे दो बदमाशों ने मगन सिंह पर निशाना साध कर गोली चला दिया। इसमें एक गोली मगन के सीने में जा लगी। घटना से दहशत में आए ड्राइवर मंगल ने भाग कर जान बचाई। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने आनन फानन में मगन को इलाज के लिए प्रयागराज एसआरएन ले गए जहां देर शाम इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मगन को किन हालातों में और किसने गोली मारी? इसको लेकर पुलिस ने छानबीन शुरू कर दिया है।
... और पढ़ें

आत्महत्या : प्रेमिका के घर के समीप फंदे पर लटकी मिली प्रेमी की लाश 

कड़ाधाम कोतवाली के घड़ियालीपुर गांव के समीप बृहस्पतिवार सुबह एक युवक का फंदे पर लटका शव मिला। लाश उसके मौसी के गांव के समीप बैर के पेड़ से लटक रही थी। स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के कपड़ों की तलाशी ली तो उसके पास से एक सुसाइड लेटर मिला। जिसमें उसने अपनी प्रेमिका की शादी दूसरी जगह तय हो जाने की बात कहते हुए जाने देने की बात लिखी है। पुलिस की सूचना पर पहुंचेे परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने किसी तरह शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। परिजनों की तरफ से फिलहाल कोई तहरीर नहीं दी गई है। पुलिस का कहना है कि तहरीर मिलती है तो मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

फतेहपुर जिले के सुल्तानपुर घोष कोतवाली के काजीपुर प्रेम नगर निवासी कमलेश सरोज (28) अविवाहित था। उसकी मौसी कड़ा धाम कोतवाली के घड़ियालीपुर में ब्याही हैं। बुधवार शाम कमलेश अजुहा में रिश्तेदार के यहां आयोजित एक भोज में शामिल होने की बात कहकर निकला था। इसके बाद सुबह घड़ियालीपुर गांव के बाहर बेर के पेड़ पर उसका शव फंदे पर लटका मिला। चर्चा रही कि कमलेश इसी गांव में एक लड़की से प्रेम करता था। दोनों एक-दूसरे से शादी करना चाहते थे। लेकिन दोनों के परिवार वालों को रिश्ता पसंद नहीं था। इस पर लड़की के घरवालों ने एक जगह रिश्ता देखकर लड़की की सगाई कर दी। इसके बाद से फोन पर भी कमलेश की युवती से बात नहीं होती थी। इस पर युगल काफी परेशान रहने लगे। बृहस्पतिवार सुबह कमलेश के शव के समीप जो सुसाइड लेटर मिला है उसमें भी इन्हीं बातों का जिक्र किया गया है।

इनका कहना है
युवक के घरवालों की तरफ से तहरीर नहीं मिली है। मृतक के पास से एक सुसाइड लेटर मिला है। जिसमें प्यार में धोखा मिलने पर खुदकुशी करने की बात कही गई है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। लेटर का भी फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट से मिलान कराया जाएगा। जांच के बाद जो भी सच्चाई सामने आएगी। इसके हिसाब से कार्रवाई की जाएगी।
योगेंद्र कृष्ण नारायण सिंह, सीओ सिराथू
... और पढ़ें

आफत की बारिश : दर्जनों घर जमींदोज, महिला समेत तीन की मौत

दोआबा में गुजरे 48 घंटे से हो रही झमाझम बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। बारिश के सीलन ग्रामीण क्षेत्र में दर्जनों घर जमींदोज हो गए हैं। घर के मलबे में दबने से महिला समेत तीन लोगाें की मौत हो गई है। जबकि, कई अन्य घायल हो गए। साथ ही लाखों की गृहस्थी मलबे में दबकर नष्ट हो गई।

बारिश के साथ चली तेज हवाओं के कारण फसलें खेतों में गिर गई हैं। बारिश में हरी सब्जियां डूबकर नष्ट हो गई हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा भरकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं मलबे में दबने से दर्जनों मवेशियों की भी मौत हो गई है।

सिराथू तहसील के कोरी का पुरवा मजरा जवई पंडरी निवासी हीरालाल (70) फेरी कर परिवार का गुजारा करता था। रोजाना की तरह बुधवार शाम भी वह घर के अंदर सो रहा था। रात में बारिश के चलते हीरालाल का कच्चा घर भरभरा कर ढह गया।

मलबे में दबने से हीरालाल जख्मी हो गया। पड़ोसियों ने किसी तरह उसे मलबे से बाहर निकाला और एंबुलेंस से सीएचसी सिराथू भेजा। प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत में चिकित्सकों ने उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जहां बुजुर्ग की मौत हो गई। पंचनामा भर पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया है। इी तरह चायल तहसील के बिरनेर गांव निवासी प्रेमनारायण का खपरैलनुमा घर रात में भरभरा गया। घर के अंदर सो रहे प्रेम नारायण और उसकी पत्नी मुर्दी (55) दब गई। चीखपुकार सुन जुटे परिजन और पड़ोसियों ने आननफानन मलबा हटाकर दंपती को बाहर निकाला।

गंभीर हालत में निजी वाहन से दोनों को इलाज के लिए पास के अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने मुर्दी को मृत घोषित कर दिया। बृहस्पतिवार को पंचनामा भरकर पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इसी तरह सराय अकिल के बुद्धपुरी आंबेडकर नगर निवासी भइया लाल का घर गिरने से उसके एक गाय की दबकर मौत हो गई।

वहीं, सिराथू क्षेत्र के रामपुर बढ़नावा गांव निवासी राजमन खेती किसानी कर परिवार का भरण पोषण करता है। बृहस्पतिवार की सुबह करीब छह बजे राजमन का बेटा सूरज (15) लघुशंका करने के लिए निकला था, तभी दीवार उसके ऊपर गिर गई। जिससे उसकी मौत हो गई। सूरज की मौत से परिजनों में कोहराम है। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

बारिश की सीलन से चायल में जमींदोज हुए दर्जन भर घर
लगातार दो दिन से हो रही मूसलाधार बारिश से गांवों में हालात बदतर हो गए हैं। बारिश के कारण कच्चे और सीलन भरे मकानों पर पड़ रहा है। बुधवार की रात बारिश से हुई सीलन के कारण चायल तहसील के गांवों में दर्जन भर घर जमींदोज हो गए हैं। सूचना राजस्व विभाग के कर्मचारियों को दे दी गई है।

चायल तहसील के बलहेपुर निवासी कमलेश कुमार मजदूरी कर परिवार का गुजारा करता है। कमलेश ने बताया कि बुधवार रात उसका कच्चा घर जमींदोज हो गया। इससे हजारों की गृहस्थी भी नष्ट हो गई। इसी प्रकार मदूकी गांव के कमल का दो कमरे का कच्चा मकान गिर जाने के कारण अब वह खुले आसमान में रहने को मजबूर है। चरवा उत्तर थोक निवासी छेदी लाल का एक कमरे का कच्चा मकान भरभरा कर गिर गया।

इसी प्रकार कसेंदा गांव के किसान छविलाल यादव का दो कमरे का कच्चा घर धराशायी हो गया है। जिससे उसके अनाज, कपड़े, मवेशियों के लिए चारा आदि नष्ट हो गया है। इसी गांव के प्रभाकर सिंह यादव का घर जमींदोज हो गया है। जिससे मवेशियों के लिए रखा हजारों रुपये का चारा नष्ट हो गया।

लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, सरकारी दफ्तरों में जलभराव
बुधवार की भोर से शुरू हुई बारिश का सिलसिला बृहस्पतिवार को भी जारी रहा। पूरी रात बरसात के बाद बृहस्पतिवार को भी दिन भर पानी बरसा। इस दौरान कभी तेज, तो कभी हल्की बारिश होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। खराब मौसम के चलते ज्यादातर लोग घरों में ही कैद रहे। इस बीच बारिश के चलते जगह-जगह जलभराव हो गया।

ग्रामीण व नगरीय क्षेत्र की बात तो दूर जिला मुख्यालय पर ही प्रमुख सड़कों पर पानी भर गया। चौराहे से बाजार वाले मुख्य मार्ग पर तहसील गेट के आगे, डायट मैदान, एसपी कार्यालय परिसर, विकास भवन, सदर ब्लॉक परिसर, संयुक्त जिला चिकित्सालय, साधन सहकारी समिति, बाल किशोर न्याय बोर्ड, सदर कोतवाली आदि कार्यालयों में जलभराव होने से लोगों को आवागमन में दिक्कतें हुईं। कस्बे के सुमित कुमार व राजेश ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि यदि समय रहते नालियों की समुचित साफ सफाई करा दी गई होती, तो इस प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़ता।

हवा के साथ हुई बारिश से फसल गिरीं
48 घंटे से लगातार हो रही बारिश से जिले के किसानों में खुशी कम, गम अधिक देखने को मिल रहा है। तेज हवा के साथ हुई बारिश के चलते जिले के कई क्षेत्रों में खेत में खड़ी धान की फसल धराशायी हो गई। मुख्यालय से सटे कोर्रों गांव निवासी राम कुमार, रामपाल, दिनई आदि किसानों ने बताया कि उनके खेत में खड़ी धान की फसल बर्बाद हो गई। किसानों का कहना है कि बारिश का सिलसिला नहीं थमा, तो धान समेत अन्य फसलों को व्यापक नुकसान होगा। इसी प्रकार असकरनपुर मंगरोहनी, मवई, पासिनहार, कादीपुर, बिछौरा, भेलखा, टिकरी, टेंगाई, रूप नायारणपुर गोरियों, निहालपुर, चकिया समेत कई अन्य क्षेत्रों में खेत में खड़ी फसल गिर गई।

बारिश में गुल हुई बत्ती, उपभोक्ताओं को हुई परेशानी
बुधवार की भोर से लगातार बारिश के कारण जिले की विद्युत आपूर्ति बेपटरी हो गई। कहीं जर्जर तार टूट गए, तो कहीं ओवरलोड ट्रांसफार्मर जवाब दे गए। इससे संबंधित क्षेत्र के उपभोक्ताओं को विभिन्न प्रकार की मुश्किलों का सामना करना पड़ा। बृहस्पतिवार की सुबह बदतर विद्युत आपूर्ति के चलते प्रभावित क्षेत्र के उपभोक्ताओं को सबसे अधिक समस्या पेयजल को लेकर हुई। एक-एक बाल्टी पानी के लिए लोगों को इधर-उधर भटकने को मजबूर होना पड़ा। शिवपुर बसोहनी, फैजीपुर, हटवा, हाजीपुर पतौना, कोर्रों, बहादुरपुर समेत कई अन्य क्षेत्रों की बिजली गुल रहने से उपभोक्ताओं को मुश्किलों का सामना करना पड़ा है।

महिला का मकान जमींदोज
48 घंटे से हो रही बारिश के चलते बुधवार देर रात सदर तहसील के ढोकसहा गांव में बारिश और सीलन के चलते विमला देवी पत्नी माता बदल का मकान जमींदोज हो गया। हालांकि इस दौरान घर में रहे लोगों को मामूली चोटें आईं। जबकि, मलबे में दबने से बर्तन, अनाज, कपड़ा सहित गृहस्थी का तमाम समान नष्ट हो गया है।

जगह-जगह जलभराव से आवागमन में परेशानी
नगर पालिका परिषद के मोती लाल आजाद नगर (कसिया पूरब गांव) का तालाब बारिश से ओवरफ्लो हो गया है। ऐसे में दर्जनों ग्रामीणों के घरों में बारिश का पानी नाली के सहारे घुस गया है। शफीक अहमद के घर से अरविंद कुमार त्रिपाठी के घर तक बसे तालाब के किनारे दर्जनों लोगों के घरों में तालाब का पानी भर गया है। जिससे लोगों का घरों से निकलना मुश्किल हो गया है। तालाब के पानी की निकासी का कोई रास्ता ना होने से सैकड़ों परिवारों के सामने बड़ी समस्या बन गई है। मोहल्ले के इसरार अहमद, बरकतुल्लाह, अकबर अली, मोबीन अहमद, असगर अली, राजू, मसी उल्लाह, इजहार अहमद, सहीदुल्लाह, बरकाती, शीबू बाबा, शिव सिंह आदि के घरों में तालाब का पानी घुस गया है।

बारिश से किसानों की फसल हुई बर्बाद
जिले में 48 घंटे से लगातार हो रही बारिश व तेज हवा से खेत में खड़ी फसलें गिर गई हैं। हर तरफ तबाही का मंजर दिख रहा है। अधिकतर किसानों के धान, बाजरा, मिर्च, कद्दू, पालक, बरबटी, चिचिंडा, बैगन, पत्तागोभी, फूलगोभी, करैला, टमाटर आदि की फसलें खेतों में डूब चुकी हैं। मौसम की मार से परेशान किसानों की चिंता बढ़ गई है।

बुधवार की भोर से हो रही लगातार हो रही बारिश आफत बनकर टूट पड़ी है। इस समय खेतों में हरियाली की जगह केवल तबाही का मंजर दिख रहा है। धान, बाजरा, तिल, अरहर, मिर्च, कद्दू, पालक, बैगन, चिचिंडा, पत्तागोभी, फूलगोभी, बरबटी आदि फसल पूरी तरह से बर्बाद नजर आ रही है। तेज हवा के झोंके से ज्यादातर फसलें गिर चुकी हैं। खेतों में बारिश की वजह से पानी भरा पड़ा है।

किसानों को गिरी हुई व पानी में डूबी फसलें देखकर उनके नष्ट होने की चिंता सताने लगी है। अब सवाल उठता है कि किसान के पास यदि फसल ही नहीं तैयार होकर घर आएगी तो उनका सालभर का खर्च कैसे चलेगा। पिछले कई साल से मौसम की मार से किसान त्रस्त हैं। किसानों को फसल बर्बाद होने के नाम पर जो मुआवजा मिलता भी है, वह सिर्फ कागजों में मिलता है सरकार हमेशा मुआवजा की बात करती है लेकिन किसानों को कभी मुआवजा मिला ही नहीं है।
 
Disaster rain: Dozens of houses landed, three including woman died
Disaster rain: Dozens of houses landed, three including woman died- फोटो : KAUSHAMBI
 
Disaster rain: Dozens of houses landed, three including woman died
Disaster rain: Dozens of houses landed, three including woman died- फोटो : KAUSHAMBI
 
Disaster rain: Dozens of houses landed, three including woman died
Disaster rain: Dozens of houses landed, three including woman died- फोटो : KAUSHAMBI
 
Disaster rain: Dozens of houses landed, three including woman died
Disaster rain: Dozens of houses landed, three including woman died- फोटो : KAUSHAMBI
 
... और पढ़ें

अंधविश्वास: सर्पदंश से मृत किशोर का शव दो दिन तक रखकर तंत्र-मंत्र से जिंदा करने की कोशिश, शव से उठी दुर्गंध तो भाग खड़ा हुआ तांत्रिक

Disaster rain: Dozens of houses landed, three including woman died
देश जहां तरक्की की नित्य ऊंचाइयों की बुलंदी छू रहा है, वहीं जिले के लोग अब भी अंधविश्वास के मकड़जाल से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। चरवा कोतवाली के बलीपुर टाटा गांव में ऐसा ही एक मामला सामने आया। जहां दो दिन पहले सर्पदंश से मृत किशोर के शव को जिंदा करने की आस में उसकी लाश दो दिन तक तमाशा बनी रही।

बुधवार को जब शव से दुर्गंध उठने लगी तो परिवार के लोगों ने सारी उम्मीद खो दी। इस बीच झांड़-फूंक के सहारे किशोर को जिंदा करने का दावा करने वाला तांत्रिक मौके से भाग निकला। दोपहर बाद शोकाकुल माहौल में शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। परिजनों ने पुलिस को सूचना दिए बगैर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
... और पढ़ें

चोरी : सेंध लगाकर दो दुकानों से पार कर ले गए लाखों का सामान

पिपरी कोतवाली क्षेत्र के लोकीपुर गांव में चोरों ने दो दुकानों में सेंध काटकर साढ़े चार लाख रुपये कीमत का सामान पार कर दिया। सुबह घटना की जानकारी हुई तो पीड़ितों के होश उड़ गए। सूचना के बाद पहुंची पुलिस घटना की छानबीन में जुट गई है। पूरामुफ्ती के गोविंदपुर तेवारा निवासी राजू मौर्या परिवार के गुजारे के लिए पिपरी के लोकीपुर गांव के बाहर स्थित मार्केट में मोबाइल और कपड़े की दुकान चलाते हैं।

राजू के मुताबिक बुधवार की शाम वह दुकान बंद करके घर चला गया था। रात में चोरों ने उसकी दुकान के पीछे की दीवार में सेंध काट कर कंप्यूटर, लैपटॉप, प्रिंटर, 15-20 पीस एंड्रायड मोबाइल फोन, मोबाइल बैट्री, चार्जर समेत करीब तीन लाख रुपये का सामान पार कर दिया।

इसके बाद बगल स्थित कपड़े की दुकान में सेंधमारी कर पांच हजार रुपये नकदी, कीमती साड़ियां बेल्ट, पर्स, चश्मे समेत करीब डेढ़ लाख रुपये का सामान पार कर दिया है। सुबह दुकान में चोरी की जानकारी मिलने पर पीड़ित दुकानदारों के होश उड़ गए। सूचना के बाद पहुंची पुलिस मौका मुआयना करने के बाद पीड़ितों से तहरीर लेकर घटना की छानबीन में जुट गई है।
... और पढ़ें

सीएम का आदेश ठेंगे पर, खनिज वाहनों से बेखौफ वसूली कर रहे जिला पंचायत के ठेकेदार

दोआबा की पुलिस व जिला पंचायत के जिम्मेदारों के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का फरमान कोई मायने नहीं रखता है। तभी तो सीएम के सख्त आदेश के बावजूद विभिन्न थाना क्षेत्रों के दर्जन भर स्थानों पर जिला पंचायत के ठेकेदार बेखौफ होकर खनिज वाहनों से अवैध वसूली कर रहे हैं। जबकि, सीएम ने सड़कों पर खनिज वाहनों से अवैध वसूली मिलने पर अपर मुख्य अधिकारी के साथ ही संबंधित थानेदार को निलंबित करने का निर्देश दे रखा है।

जिला पंचायत ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए जिले के तिल्हापुर (रुसहाई महरानिया का पूरा), सैदपुर/औंधन, कटैया, उमरवल, जमुनापुर, पभोषा(बड़हरी), कटरी/डेढ़ावल, ऐगवां, दिया उपरहार आदि घाटों से निकलने वाले बालू, मोरंग का परिवहन करने वाले वाहनों से शुल्क वसूली का ठेका दे रखा है। इसमें शर्त है कि ठेकेदार द्वारा बालू मोरंग उद्गम स्थल पर ही बिना बैरियर लगाए खनिज वाहनों से शुल्क वसूला जाएगा। राष्ट्रीय राजमार्ग, राष्ट्रीय मार्ग, मुख्य जिला मार्ग, अन्य किसी भी मार्ग अथवा ऐसे किसी भी स्थान पर जहां से आवागमन में व्यवधान हो, वसूली नहीं होगी।

इसके बावजूद जिला पंचायत के ठेकेदार मनमानी कर रहे हैं। बताते चलें कि शासन के निर्देश पर एक जुलाई से 30 सितंबर तक के लिए नदी से बालू खनन बंद है। ऐसे में खनिज वाहनों से वसूली भी नहीं की जानी चाहिए। इसके बावजूद जिले में महेवाघाट कोतवाली के हिनौता मोड़, हिनौता गांव, टिकरा, गौरा, पश्चिमशरीरा कोतवाली के भगवतपुर, पिपरी के तिल्हापुर व सरायअकिल क्षेत्र के कनैली आदि स्थानों पर भंडारित बालू के समीप जिला पंचायत के ठेकेदार छप्पर डालकर खनिज वाहनों से जबरन वसूली कर रहे हैं।

लगातार मिल रही शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए सीएम के अपर मुख्य सचिव गृह ने इस बाबत सभी जिलों के डीएम और एसपी को पत्र लिखा है। इसमें जिपं. के ठेकेदारों द्वारा खनिज वाहनों से की जा रही अवैध वसूली पर तत्काल रोक लगाने के लिए कहा गया है। इसके बाद भी खनिज वाहनों से अवैध वसूली की शिकायत मिलने पर अपर मुख्य सचिव के साथ ही संबंधित थानेदार को निलंबित करने की चेतावनी दी गई है।

निर्धारित दर से डेढ़ गुना वसूल रहे ठेकेदार के गुर्गे
जिला पंचायत ने बालू मोरंग उद्गम स्थल से खनिज वाहनों वाहनों के जरिए वसूली के लिए शुल्क भी निर्धारित कर रखा है। लेकिन ठेकेदार के गुर्गे मनमाने तरीके से निर्धारित दर से डेढ़ गुना शुल्क वसूल रहे हैं। ट्रांसपोर्टरों के अनुसार ट्रैक्टर के लिए निर्धारित दर 50 रुपये की जगह 100, छह चक्का ट्रक/डंपर से 150 की जगह 200 रुपये तथा दस चक्का या इससे ऊपर के वाहनों से 200 की जगह 300 रुपये शुल्क वसूला जा रहा है। इसे लेकर ठेकेदार के गुर्गों और वाहन चालकों के बीच दिनभर कहासुनी होती रहती है। बदले में दी जाने वाली रसीद में किसी तरह की दस्तखत या मोहर भी नहीं रहती है।

शासन का आदेश मिला है। खनिज वाहनों से शुल्क वसूली पर तत्काल रोक लगाने के लिए जिला पंचायत एवं पुलिस अधीक्षक को निर्देशित किया जाएगा। इसके बाद भी वसूली की गई तो जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। -सुजीत कुमार-डीएम

मामला संज्ञान में है। खनिज वाहनों से शुल्क वसूली पर रोक लगाने के लिए थानेदारों का निर्देशित किया जाएगा। इसके बाद भी शिकायत मिली तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।-राधेश्याम विश्वकर्मा-एसपी
... और पढ़ें

मासूम की तलाश में चार जिलों में भटकी पुलिस, नतीजा शून्य

अपनी मां के साथ विकास भवन के समीप से लापता चार वर्षीय साहिल का मामला उलझता जा रहा है। दरअसल, साहिल के लापता होने के बाद उसके मां और पिता ने एक संदिग्ध का मोबाइल नंबर पुलिस को बताया। दोनों ने एक ही व्यक्ति का नंबर अलग-अलग बताया तो पुलिस का शक गहरा गया।

साहिल के लापता होने का राज गहराने के बाद पुलिस टीमें मंगलवार रात प्रयागराज, कानपुर, फतहेपुर में कुछ संदिग्ध ठिकानों में छापे मारी कर वापस लौट आईं। प्रभारी इंस्पेक्टर रामजीत का कहना है कि पति-पत्नी के बीच कुछ आपसी विवाद को लेकर बच्चे के लापता होने की कहानी गढ़ी जा रही है। जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा।

करारी कस्बे के किंगनगर मोहल्ला निवासी जगदीश की मां को पिछले तीन साल से पेंशन नहीं मिल रही थी। इसकी जानकारी के लिए मंगलवार को वह अपनी पत्नी शालू व चार वर्षीय बेटे के साथ विकास भवन आया था।विकास भवन के पास पत्नी व बच्चे को छोड़कर जगदीश अपनी मां को लेकर पेंशन दफ्तर चला गया। वापस लौटा तो शालू अकेली थी जबकि साहिल गायब था। पूछने पर पत्नी ने बताया कि वह शौच के लिए गई थी। इस दौरान साहिल न जाने कहां चला गया। पुलिस ने परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज देखे तो मालूम चला कि एक में वह आइसक्रीम लेकर कुछ दूर जाता दिखा था।

इसके बाद वह फुटेज में कहीं नजर नहीं आया। घटना की जानकारी पर सीओ डॉ. केजी सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने पति और पत्नी से अलग-अलग पूछताछ की। इस दौरान पता चला कि दंपती की शादी को पांच साल हुए थे। जिसमें से एक साल दोनों के बीच अलगाव भी रह चुका है। पुलिस को शक हुआ तो उसने गहराई से पूछताछ की। इस पर एक संदिग्ध व्यक्ति का नाम सामने आया। पूछताछ के दौरान पति-पत्नी ने उस व्यक्ति का अलग-अलग नंबर बताया। इस पर एसओजी की टीम मंगलवार रात कई जिलों में छापे मारी करती रही। सीओ डॉ. केजी सिंह का कहना है कि काफी हद तक सफलता मिल चुकी है। जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा।
... और पढ़ें

तीसरे दिन भी प्रदर्शन के बाद धरने पर बैठे रहे वकील

उपनिबंधन कार्यालय में काश्तकारों से अवैध वसूली और रजिस्ट्रार के मनमाने रवैये से सिराथू तहसील के अधिवक्ताओं का गुस्सा बढ़ता जा रहा है। नाराज अधिवक्ताओं ने बुधवार को लगातार तीसरे दिन भी प्रदर्शन कर उपनिबंधक कार्यालय के समक्ष धरना दिया। चेताया कि समस्या का निस्तारण नहीं होने तक उनका यह आंदोलन जारी रहेगा।

संघ के अध्यक्ष ने रजिस्टार सर्वेंदु मिश्रा पर आरोप लगाते हुए बताया कि बैनामा के दस्तावेज में कमियां निकाल कर उन्हें रोक दिया जाता है। इसके बाद दबाव बनाकर अवैध वसूली कर बैनामा पंजीकृत किया जाता है। साथ ही विक्रेता द्वारा अंकित अंश के क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर स्टांप की कमी बता दी जाती है। रोजाना की इस व्यवस्था से काश्तकार परेशान हैं। इसके अलावा महीने भर के भीतर कई फर्जी बैनामा किए गए हैं। जिसमें जीवित व्यक्ति को मृतक दिखाया गया है।

व्यवस्था सुधरने तक कार्य का बहिष्कार कर धरने पर बैठे रहने की जिद पर अड़े वकीलों ने कहा कि यदि इसके बावजूद भी अवैध वसूली नहीं बंद हुई तो वह सभी सड़कों पर उतरकर आंदोलन करेंगे। इस मौके पर पूर्व अध्यक्ष बसंत सिंह, श्याम लाल पाल, जयदीप पांडेय, संजीव मिश्रा, सुमित कुमार, शिव सेवक अग्रहरि, अंसार अहमद, बृजेश मिश्रा, बृजेश सिंह सहित तमाम अधिवक्ता मौजूद रहे।
... और पढ़ें

जिस सीएचसी को सीएमओ ने बताया टॉप, विधायक ने उसे दिए जीरो नंबर

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कनैली में चिराग तले अंधेरा वाली कहावत सच साबित हुई। पांच दिन पहले औचक निरीक्षण कर सीएमओ ने टॉप का खिताब दिया था, बुधवार को उसी अस्पताल का निरीक्षण कर सदर विधायक ने सौ में से जीरो नंबर दिया। महज पांच दिन में नंबर सौ से जीरो पर पहुंचने वाले अस्पताल को लेकर स्वास्थ्य महकमे खासी चर्चा है।

सदर विधायक लाल बहादुर बुधवार को क्षेत्र भ्रमण पर थे। इस दौरान तमाम ग्रामीणों ने शिकायत दर्ज कराई कि गांव-गांव लोग बुखार से परेशान हैं। सरकारी अस्पताल में बिना जांच के उन्हें दवा दे दी जाती है। मलेरिया आदि की जांच के लिए उन्हें बाहर की निजी लैब भेजा जाता है। इस पर विधायक सीधे सीएचसी कनैली पहुंच गए। विधायक ने निरीक्षण के दौरान देखा कि अस्पताल के चारों तरफ गंदगी का अंबार लगा है। इस पर वह बिफर उठे, विधायक ने अधीक्षक अरुण आर्य को सख्त निर्देश दिया कि तत्काल साफ सफाई करवा कर मुझे सूचित करें।

दोबारा निरीक्षण के दौरान अस्पताल में गंदगी मिली तो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इलाज करवाने के लिए आए मरीजों से दवाओं के विषय में जानकारी ली। कहा कि मरीजों को दवा अस्पताल से ही दी जाए। किसी मरीज को बाहर (मेडिकल स्टोर) की दवा नहीं लिखी जाए। इस बाबत विधायक ने सीएमओ को पत्र लिखकर समस्या से अवगत भी कराया है।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X