विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

जम्मू-कश्मीर: जम्मू विश्वविद्यालय में पीजी दाखिले के लिए सात दिसंबर को जारी होगी पहली मेरिट सूची

जम्मू विश्वविद्यालय में मंगलवार सात दिसंबर को पीजी में दाखिला प्रक्रिया शुरू होंगे। स्नातक की मेरिट के आधार पर छात्रों को दाखिला मिलेगा। जिन छात्रों ने दाखिले के लिए आवेदन किया है, विश्वविद्यालय उनकी मेरिट सूची तैयार कर रहा है। 
कोरोना महामारी के चलते विवि ने दाखिले के लिए दो साल से लिखित परीक्षा नहीं करवाई है।

अब मेरिट के आधार पर ही दाखिला दिया जा रहा है। अकादमिक मामलों के डीन प्रो. नरेश पाधा ने बताया कि मंगलवार सात दिसंबर को पहली मेरिट सूची जारी की जाएगी। इसके बाद खाली सीटों के हिसाब से काउंसलिंग करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि 20 दिसंबर से कक्षाएं शुरू करने की कोशिश की जा रही है, इसलिए प्रवेश प्रक्रिया में तेजी लाई जाएगी, ताकि विद्यार्थियों की पढ़ाई सुचारू रूप से चल सके। बताया कि दाखिला प्रक्रिया एक माह के भीतर पूरी की जाएगी। 
... और पढ़ें

BSF के स्थापना दिवस पर बोले एलजी : शांति के दुश्मनों को न कभी भूलेंगे; न कभी छोड़ेंगे, आतंकियों का सफाया प्राथमिकता

उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा है कि सामाजिक ताने-बाने को घायल करने वालों और शांति के दुश्मनों को हम न कभी भूलेंगे और न ही कभी छोड़ेंगे। आतंकवाद और आतंकियों के समर्थकों का सफाया करना हमारी प्राथमिकता है। बीएसएफ के स्थापना दिवस समारोह पर जम्मू के पलौड़ा स्थित बीएसएफ फ्रंटियर आफिसर्स इंस्टीट्यूट में आयोजित कार्यक्रम में उपराज्यपाल ने कहा कि आज यदि लोग बिना किसी डर के जम्मू-कश्मीर की विकास यात्रा में योगदान कर रहे हैं तो यह सुरक्षा बलों के बलिदान से ही संभव हो सका है।

प्रदेश में शांतिपूर्ण तरीके से डीडीसी चुनाव, सीमावर्ती गांवों में सार्वजनिक सेवा कार्यक्रम, कोरोना काल में सहायता से लेकर सीमा पार से घुसपैठ और नशे की तस्करी रोकने तक बीएसएफ ने अहम भूमिका निभाई है। जम्मू-कश्मीर में शांति स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

इस अवसर पर उन्होंने जवानों से मिलकर उनका हौसला बढ़ाया। परिवार वालों का कुशल क्षेम भी पूछा। जवानों और उनके परिवारों के साथ रात्रि भोजन में शामिल होकर उन्होंने विषम परिस्थितियों में कर्तव्य निर्वहन के लिए जवानों के प्रति आभार जताया। 

शहीदों और उनके परिवार को नमन
उन्होंने कहा कि देश की सेवा में बलिदान देने वाले बीएसएफ के शहीदों व उनके परिवार के प्रति नमन है। पूरा देश सुरक्षा बलों के प्रति नतमस्तक है जो लोगों को सुरक्षित और भयमुक्त वातावरण प्रदान कर रहा है। आतंकवाद, टेरर फंडिग के पारिस्थितिकी तंत्र और देश विरोधी तत्वों को नेस्तनाबूद करने में जुटा है।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: पुलिस बॉर्डर महिला बटालियन की भर्ती में डोमिसाइल का पेच, अब संशोधित अधिसूचना जारी कर सकता है गृह विभाग

जम्मू-कश्मीर में ढाई साल पहले शुरू हुई पुलिस बॉर्डर एवं महिला बटालियन की भर्ती प्रक्रिया में डोमिसाइल का पेच फंस गया है। इसके लिए लिखित परीक्षा छोड़कर बाकी सारी प्रक्रियाएं पूरी हो चुकी हैं। लिखित परीक्षा कराने को लेकर कोई तारीख घोषित नहीं की जा रही। पुलिस विभाग ने इसे लेकर गृह विभाग से भी बात की है।

दरअसल, कुछ उम्मीदवार मांग कर रहे हैं कि डोमिसाइल वालों को भी भर्ती में शामिल किया जाए, जबकि जब इस भर्ती के लिए अधिसूचना जारी हुई थी तो तब इसके लिए स्टेट सब्जेक्ट जरूरी था। प्रदेश में अनुच्छेद 370 हटने के बाद स्टेट सब्जेक्ट को भी खत्म कर दिया गया। अब नौकरी के लिए डोमिसाइल की अनिवार्यता है। अब डोमिसाइल वाले उम्मीदवारों को लिखित परीक्षा में शामिल किया जाएगा या नहीं, इस पर मामला फंसा हुआ है।

2500 से ज्यादा पद भरे जाने हैं
2019 में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर में 1350 पदों वाली बॉर्डर बटालियन और इतने ही पदों वाली दो महिला बटालियनों की भर्ती का एलान किया था। बीते ढाई साल से भर्ती प्रक्रिया चल रही है। पहले कोविड की वजह से भर्ती नहीं हो पा रही थी। अब इसमें 370 हटने के बाद की स्थिति को लेकर दुविधा बन गई है।
 
... और पढ़ें

फारूक अब्दुल्ला के बोल: केंद्र द्वारा छीने गए अधिकारों को पाने के लिए तैयार करें मंच, किसानों की तरह देने पड़ सकता है बलिदान 

नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष डॉ फारूक अब्दुल्ला ने रविवार को कहा कि केंद्र द्वारा छीने गए अधिकारों को पाने के लिए किसानों की तरह बलिदान देना पड़ सकता है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से एक ऐसा मंच तैयार करने को कहा जिससे केंद्र शासित प्रदेश को पूर्ण प्रदेश का दर्जा मिल सके। 

हजरतबल में अपने पिता और नेकां के संरक्षक शेख अब्दुल्ला की पुण्यतिथि पर डॉ. फारूक ने कहा कि प्रत्येक नेकां कार्यकर्ता और नेता को हर गांव और इलाके में लोगों के संपर्क में रहना होगा। जिस तरह 700 किसानों के बलिदान के बाद केंद्र ने कृषि कानूनों को निरस्त किया। केंद्र द्वारा हमसे छीने गए अधिकारों को वापस पाने के लिए हमें भी इसी तरह का बलिदान देना पड़ सकता है। 
... और पढ़ें
फारूक अब्दुल्ला फारूक अब्दुल्ला

जम्मू-कश्मीर: टीकाकरण करवा चुके यात्री ही कर सकेंगे मां वैष्णो के दर्शन, श्राइन बोर्ड ने जारी किए नए नियम

श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के सीईओ रमेश कुमार ने दर्शन को आने वाले यात्रियों से कोरोना नियमों का पूर्णतया पालन करने की अपील की है। उन्होंने 72 घंटों तक पुरानी कोरोना रिपोर्ट या दोनों खुराक ले चुके लोगों को ही यात्रा की अनुमति दी। इसके अलावा बोर्ड की ओर से जारी निर्देशों में कहा गया है कि अगर किसी यात्री के पास ये सब नहीं है, तो उसकी मौके पर ही जांच की जाएगी।

रिपोर्ट नकारात्मक आने पर ही उसे भवन की ओर प्रस्थान करने की अनुमति मिलेगी। यात्रियों के लिए पहले से ही मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। साथ ही भवन मार्ग पर शारीरिक दूरी बनाए रखने और अपने साथ मास्क लगाने की सलाह दी गई है।  कोविड-19 के मद्देनजर अपनाए जाने वाले विभिन्न एहतियाती उपायों के बारे में तीर्थयात्रियों को यात्रा मार्ग पर लगाए गए बहुउद्देश्यीय ऑडियो सिस्टम और हाई-टेक वीडियो वॉल से भी नियमित जागरूक किया जा रहा है।

कटड़ा में 61 यात्री मिले संक्रमित

माता वैष्णो देवी की यात्रा के लिए कटड़ा पहुंचे 61 यात्री रैपिड टेस्ट किए जाने पर संक्रमित पाए गए। इसके बाद उनको वापस भेज दिया गया। अब जिले में 226 सक्रिय मामले हो गए हैं। शनिवार को 11 लोग कोरोना मुक्त भी हुए। जिले में पिछले चार दिनों में 195 मामले संक्रमण के मिल चुके हैं।

मामलों में बढ़ोत्तरी होती देख प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने लोगों को नियमों का पालन करने को कहा है। हालांकि जिले में अब तक किसी भी क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन नहीं बनाया गया है। 
... और पढ़ें

विवाह करने में देरी: पसंद का रिश्ता न मिलने से जम्मू-कश्मीर में देरी से शादी कर रहे युवा, रोजगार भी बना कारण  

जम्मू-कश्मीर में युवाओं की शादी में देरी गंभीर समस्या बनती जा रही है। इसके पीछे बेरोजगारी, शारीरिक समस्याएं, नशा आदि वजह बन रहे हैं। इन परिस्थितियों में युवा तनाव का शिकार हो रहे हैं। तनाव से मानसिक समस्याएं भी बढ़ रही हैं।साइकाइट्री अस्पताल जम्मू के पूर्व एचओडी वरिष्ठ मनोचिकित्सक डॉ. जगदीश थापा का कहना है कि कई अध्ययन में सामने आया है कि जम्मू-कश्मीर में विभिन्न कारणों से युवाओं की 35-40 की उम्र में शादियां हो रही हैं।

ब्रेकअप होने के कारण लंबे रिश्ते को निभाने से परहेज कर रहे युवा 
शादी में देरी या नहीं होने के पीछे सबसे बड़ा कारण बेरोजगारी देखा जा रहा है। रोजगार की तलाश में बड़े पैमाने पर युवाओं की शादी की उम्र निकल रही है। जिससे वे अवसाद (डिप्रेशन) का शिकार हो रहे हैं। शादी में देरी और न होने के पीछे अन्य कारणों में युवा 16-17 साल की उम्र में अवैध संबंधों में पड़ रहे हैं और बार-बार ब्रेकअप होने के कारण वे लंबे रिश्ते को निभाने से परहेज करते हैं।

युवा हो रहे नशे का शिकार 
प्रदेश में लाखों युवा नशे का शिकार हो चुके हैं, इससे उनकी शारीरिक क्षमता कमजोर हो गई है। इसके साथ कुछ लोग गुप्त रोगों से ग्रस्त होते हैं और वे इसकी चर्चा नहीं करते, जिससे वे शादी से कतराते हैं। मेंटल डिस-ऑर्डर में डिप्रेशन, स्कीजोफ्रेनिया, पागलपन आदि की समस्याएं होने के कारण भी युवा शादी के बंधन में नहीं बंध पाते। इसमें अभिभावक उनका उचित इलाज करवाने के बजाय झाड़फूंक के चक्कर में रहते हैं। 

हालिया सर्वे में सर्वाधिक पाई गई प्रदेश में बेरोजगारी
सेंटर फार मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी ने हाल ही में एक सर्वे में जम्मू-कश्मीर की बेरोजगारी दर को देश के सभी राज्यों और प्रदेशों में सर्वाधिक पाया। सर्वे के अनुसार जम्मू-कश्मीर में अक्तूबर 2021 में बेरोजगारी दर 22.2 फीसदी पाई गई, जबकि सितंबर में यह दर 21.6 फीसदी थी, जबकि राष्ट्रीय बेरोजगारी दर 7.1 फीसदी बताई गई।

कई प्रोफेशनल में भी शादियों में हो रही देरी 
कई प्रोफेशनल में लंबी पढ़ाई और रोजगार की तलाश के चक्कर में भी शादियों में देरी हो रही है। मसलन एक डॉक्टर को रजिस्ट्रार बनने में 33-35 साल तक लग जाते हैं, जिसमें रोजगार न मिलने पर शादी का समय निकल जाता है। सामान्य में 26-30 के बीच शादी की उम्र होती है। लेकिन जम्मू कश्मीर में बड़ी संख्या में मामलों में 35-40 साल के बीच शादियां हो रही हैं। देरी से शादी होने पर जेनेटिक समस्याओं में पैदा होने वाले बच्चों में मंदबुद्धि होने की आशंका रहती है। 

अधिक उम्र वालों की मैरिज ब्यूरो में बढ़ रही भीड़
जम्मू शहर में मैरिज ब्यूरो चला रहे सुनील डिंपल ने बताया कि शादी के लिए उनके पास आने वाले लोगों में 30-40 फीसदी अधिक उम्र के पहुंच रहे हैं। इसके पीछे नौकरी ढूंढने में अधिक समय लग जाना, रिश्तों में स्टेटस को लेकर समानता की अधिक तलाश करना, अधिक पढ़ने पर ज्यादा अपेक्षाएं करने से उम्र निकल जाना, बड़े अधिकारियों का अपने बच्चों का बड़े घरों में रिश्तों की तलाश में समय निकल जाना आदि देखा जा रहा है।

केस-1 : पलांवाला निवासी 38 वर्षीय युवा की अभी तक शादी नहीं हो पाई है। कारण बेरोजगारी के चलते शादी की तरफ अधिक ध्यान नहीं दिया, लेकिन उम्र के ढलने के साथ अब डिप्रेशन भी हावी हो रहा है। रोजगार न होने के साथ सामाजिक स्तर पर शादी जैसे संबंधों से पिछड़ गए हैं। शारीरिक और मानसिक संतुलन बनाए रखने के लिए दवाओं से उपचार लेना पड़ रहा है। 

केस- 2 : 39 वर्षीय सांबा निवासी युवा पिछले कई सालों से नशे की लत में फंस चुके हैं। नशे से शारीरिक और मानसिक समस्याओं ने घेर लिया है। घरवाले परेशान हैं। कहीं से जो रिश्ते आए उन्होंने नशा देखकर ठुकरा दिया। अब वह डिप्रेशन से ग्रस्त हो गया है। परिवार वाले उसे उपचार दे रहे हैं। 
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: पुलिसकर्मी पर आतंकी ने की फायरिंग, अवतीपोरा रेलवे स्टेशन पर वारदात, सीसीटीवी में कैद हुई घटना

corona case: वैष्णो देवी आने वाले यात्रियों ने बढ़ाई चिंता, 61 में मिला संक्रमण, जम्मू-कश्मीर में 24 घंटों में 202 मामले

जम्मू और कश्मीर पुलिस
जम्मू-कश्मीर में माता वैष्णो देवी के यात्रियों ने प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। बीते 24 घंटे में कटड़ा आने वाले 61 और यात्री संक्रमित पाए गए हैं। इन्हें मिलाकर प्रदेश में 202 नए मामलों की पुष्टि हुई हैं। मां के दर्शन के लिए आने वाले यात्रियों में बीते चार दिन में 151 संक्रमित पाए जा चुके हैं।

24 घंटें में संक्रमित पाए गए लोगों में जम्मू संभाग में 88 और कश्मीर संभाग में 114 मामले शामिल हैं। प्रदेश में सक्रिय मामले अब 1731 हो गए हैं। हालांकि राहत की बात यह है कि शनिवार को जम्मू-कश्मीर में किसी कोविड संक्रमित मरीज की मौत नहीं हुई।

स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग ने बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर लिए टेस्टिंग बढ़ा दी है। बीते 24 घंटों में 50755 कोविड टेस्ट प्रदेश में किए गए हैं, इसमें 202 संक्रमित पाए गए। संक्रमित पाए गए लोगों में 64 यात्री और 138 स्थानीय लोग हैं।

जम्मू संभाग के जम्मू जिले में 15, राजोरी में चार, डोडा में छह, कठुआ में एक, सांबा में एक कोरोना का मामला सामने आया है। कश्मीर के श्रीनगर जिले में 49, बारामूला में 18, बडगाम में 12, पुलवामा में छह, कुपवाड़ा में छह, अनंतनाग में तीन, बांदीपोरा में 11, गांदरबल में नौ लोग संक्रमित मिले हैं।

बीते 24 घंटों के दौरान 179 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। कुल मिलाकर मरीजो का आंकड़ा बढ़कर 337646 पर पहुंच गया हैं और एक्टिव मामले 1731 हैं। कश्मीर संभाग में 1276 व जम्मू संभाग में 455 सक्रिय मामले हो गए हैं। कोरोना से मृतको की संख्या प्रदेश में 4479 हैं।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: सिन्हा बोले- आतंकियों और उनके पनाहगारों को छोड़ेंगे नहीं, नागरिकों की सुरक्षा प्रशासन की जिम्मेदारी

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि टारगेट किलिंग को रोकने के लिए उचित प्रबंध किए जा रहे हैं। आतंकियों और आतंकवाद से जुड़े पारिस्थितिकी तंत्र को खत्म करना जरूरी है। इस रणनीति पर काम किया जा रहा है। प्रदेश को जल्द आतंकवाद मुक्त बनाने का प्रयास किया जा रहा है। परिसीमन के बाद प्रदेश में विधानसभा चुनाव करवाए जाएंगे। 

उपराज्यपाल ने एक साक्षात्कार में कहा कि आतंकवाद से किसी प्रकार का रिश्ता रखने वालों को सरकारी सुविधाओं का लाभ नहीं दिया जाएगा। प्रदेश में लगातार बदलाव की बयार बह रही है। पहले बड़ी आबादी को कई प्रकार की सुविधा नहीं मिलती थी। अब प्रत्येक नागरिक को उनका हक मिल रहा है।

जम्मू और श्रीनगर में बिजली की आपूर्ति लगातार बढ़ाई जा रही है। बर्फबारी के दौरान सभी इलाकों में बिजली आपूर्ति सुचारू रहे इसका इंतजाम किया जा रहा है। सभी गांवों में प्रशासन सड़क पहुंचा रहा है। पहले प्रदेश में तीन मेडिकल कॉलेज थे अब केंद्र के नेतृत्व में उनकी संख्या सात हो गई है। उपराज्यपाल ने तंज कसते हुए कहा कि कुछ लोगों के चश्मे का पावर खराब है इसलिए उन्हें विकास नहीं दिखता। 

डल झील में कार्यक्रम करवाकर सांस्कृतिक विरासत को बढ़ावा 
उपराज्यपाल ने कहा कि डल झील में कार्यक्रम करवाकर कश्मीर की सांस्कृतिक विरासत को बढ़ाया दिया गया है। पहले सिर्फ कश्मीर में ही शूटिंग होती थी अब जम्मू में भी फिल्म उद्योग से जुड़े लोग पहुंचने लगे हैं। 

उपराज्यपाल ने कहा कि कश्मीर की स्थिति पहले से बेहतर 
एलजी ने कहा कि कश्मीर की स्थिति पहले से काफी बेहतर हुई है। कश्मीर में सुरक्षाबलों की संख्या बढ़ाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि आतंकी घटनाओं को रोकने के लिए सीआरपीएफ की सिर्फ पांच कंपनियां लगाई गई। सेना के जवानों की संख्या कही नहीं बढ़ी। 

हैदरपोरा मुठभेड़ की जांच तीन दिन के भीतर, दोषियों को मिलेगी सजा 
सिन्हा ने कहा कि हैदरपोरा मुठभेड़ की जांच रिपोर्ट तीन दिन के भीतर आ जाएगी। किसी भी मुठभेड़ में बेगुनाह की जान नहीं जाएगी। नागरिकों के खिलाफ ऐसा करने पर दोषियों को कड़ी सजा मिलेगी। 

कश्मीरी पंडितों की घर वापसी के लिए अनुकूल माहौल बनाया जा रहा
कश्मीरी विस्थापितों की घर वापसी के लिए अनुकूल माहौल पर सिन्हा ने कहा कि भारत सरकार के छह हजार नौकरी और छह हजार घरों के निर्माण पर वर्षों से गति से काम नहीं हो रहा था। कश्मीरी विस्थापितों के लिए लगभग 3500 घर निर्माणाधीन और बाकी टेंडर किए जा रहे हैं, जिसमें अगले डेढ़ साल में आवास बनकर तैयार हो जाएंगे। 
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर में अलर्ट: घाटी में बर्फबारी की आशंका, गुरेज-बांदीपोरा मार्ग यातायात के लिए अस्थायी तौर पर बंद 

जम्मू-कश्मीर में बारिश और बर्फबारी की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर के मुताबिक पांच और छह दिसंबर को भारी बारिश और बर्फबारी हो सकती है। इसकी आशंका के बीच एसडीएम गुरेज ने गुरेज-बांदीपोरा मार्ग को यातायात के लिए अस्थायी तौर पर बंद करवा दिया है। इसके अलावा बारिश होने से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग सहित कई पर्वतीय क्षेत्रों में यातायात बाधित होने की आशंका है।

जिला प्रबंधनों को आपात प्रबंधन मजबूत बनाने के निर्देश दिए गए हैं। बर्फबारी और बारिश से ठंड भी बढ़ेगी। मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर के अनुसार खराब मौसम की सूरत में साधना टॉप, जोजिला, सिंथन टॉप, मुगल रोड, रामबन-बनिहाल, पीर पंजाल के बीच सड़क मार्ग पर यातायात बाधित हो सकता है। इसमें कई पर्वतीय क्षेत्रों में दो से तीन और छह से सात इंच बर्फ गिर सकती है।

पिछले कई हफ्ते से मौसम साफ चल रहा है, लेकिन सर्दी में भी इजाफा हुआ है। कश्मीर के लगभग सभी जिलों में रात का न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे चल रहा है। श्रीनगर में बीती रात का न्यूनतम तापमान माइनस 2.4, पहलगाम में माइनस 4.1 और गुलमर्ग में माइनस 1.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
 
जम्मू में दिनभर मौसम साफ रहने के साथ पारा 26.0 और बीती रात का न्यूनतम तापमान 10.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। संभाग के बनिहाल में बीती रात का न्यूनतम तापमान 1.8, बटोत में 5.9, कटड़ा में 10.9 और भद्रवाह में 3.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। लेह में बीती रात का न्यूनतम तापमान माइनस 5.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जम्मू कश्मीर में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से मौसम खराब रहेगा। 
... और पढ़ें

महबूबा का केंद्र पर निशाना: अनुच्छेद 370 हटने से कश्मीर ने अपनी पहचान खोई, वाजपेयी की जमकर तारीफ की

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा कि अनुच्छेद 370 और 35 ए हटने से उनकी पहचान खो गई है। उन्होंने केंद्र पर कई आरोप लगाते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर को यह विशेषाधिकार फिर से लौटाने होंगे।  एक साक्षात्कार में पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा ने भाजपा पर निशाना साधते हुए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जमकर तारीफ की।

महबूबा ने  कहा कि वाजपेयी ने कश्मीर को हमेशा दिल की नजरों से देखा। अभी की केंद्र सरकार गोडसे का कश्मीर बनाना चाहती। अटल बिहारी वाजपेयी पाकिस्तान गए और उन्होंने हुर्रियत से बात की। इसके बाद परवेज मुशर्रफ को भारत बुलाया। इस बात पर उनकी जमकर आलोचना की गई।
 
महबूबा ने कहा कि भले ही वाजपेयी चुनाव हार गए लेकिन उन्हें हम सलाम करते हैं। उन्होंने वाजपेयी को महान नेता बताते हुए कहा कि उनका सीना 56 इंच का नहीं, 67 इंच का था।  
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: बडगाम पुलिस ने चोरों के गिरोह का भंडाफोड़ किया; सात गिरफ्तार, पांच लाख का सामान बरामद  

बडगाम पुलिस ने चोरों के गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से पांच लाख रुपये का सामान बरामद किया है। बटपोरा कनिहामा निवासी मंसूर अहमद शेख ने पुलिस से दुकान से चोरी होने की लिखित शिकायत की। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू की। 

थाना मगम के एसएचओ गौहर अहमद ने आरोपियों का पता लगाने के लिए अन्य कर्मियों को लगाया। जांच के दौरान कुछ संदिग्धों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया। एक आरोपी इमरान हसन मीर निवासी ककरपोरा मीरगुंड पट्टन ने चोरी में अपनी संलिप्तता कबूल की। इसके बाद यावर अब्बास मलिक और एजाज अहमद मल्ला की गिरफ्तारी की गई।

तीनों ने दुकान से सामान की चोरी कर अन्य को बेचने की बात बताई। पुलिस ने चोरी का सामान खरीदने वाले को हिरासत में ले लिया। एसएचओ ने बताया कि इस तरह से चोरी के मामले में सात आरोपियों को पकड़ा गया है। उनके पास से कार भी बरामद की गई है। 
... और पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00