Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Kaushambi ›   Hundreds of bighas of crop submerged due to minor cutting

माइनर कटने से सैकडों बीघे फसल डूबी

Allahabad Bureau इलाहाबाद ब्यूरो
Updated Mon, 27 Dec 2021 08:18 PM IST
Hundreds of bighas of crop submerged due to minor cutting
Hundreds of bighas of crop submerged due to minor cutting - फोटो : KAUSHAMBI
विज्ञापन
ख़बर सुनें
सदर तहसील के भोलेनाथ का पूरा के समीप किशुनपुर पंप कैनाल से जाने वाली पुनवार माइनर रविवार रात टूट गई। इससे सैकड़ों किसानों की फसल जलमग्न हो गई है। सोमवार को जलमग्न फसल देखकर किसानों ने पूरे दिन पानी रोकने का प्रयास किया, लेकिन वह सफल नहीं हुए। वहीं जानकारी देने के बाद भी तहसील प्रशासन मौका मुआयना तक करने नहीं पहुंचा।
विज्ञापन

फतेहपुर जिले से आई किशुनपुर पंप कैनाल से सदर तहसील क्षेत्र में जाती है। इस कैनाल से निकली पुनवार माइनर के पानी से हजारों किसान खेती करते है। रविवार रात पुनवार माइनर भोलेनाथ का पुरवा गांव के समीप कट गई।

इससे भोलेनाथ का पुरवा, रतन का डेरा सहित अन्य कई गांवों के किसानों की फसल जलमग्न हो गई। जानकारी होने पर सोमवार सुबह किसान खेत की ओर पहुंचे और माइनर में कटान को बांधने का प्रयास करने लगे। सोमवार शाम तक किसान माइनर में हुए कटान को नहीं बांध सके। वहीं किसानों ने मामले की सूचना सदर तहसील प्रशासन को दी, लेकिन तहसील प्रशासन ने संजीदगी नहीं बरती। इससे शाम तक कटान से किसानों की फसल में माइनर का पानी जाता रहा। इस पर किसानों ने नाराजगी जताई है।
सफाई के नाम पर होता है खेल
नहर एवं माइनरों की सफाई के लिए प्रतिवर्ष लाखों रुपये सिंचाई विभाग खर्च करता है, लेकिन इसमें खेल होता है। नहरों, माइनरों की सही ढंग से सफाई नहीं की जाती है। इससे उसमें सिल्ट जमा हो जाती है। साथ ही जगह-जगह झाड़ियां भी उगी रहती हैं।
पानी भरने से 10 बीघे गेहूं की फसल बर्बाद हो गई है। मामले की जानकारी तहसील प्रशासन को दी गई, लेकिन शाम तक कोई भी अफसर माइनर में आई कटान को बांधने के लिए नहीं आया है। किसान हताश परेशान हैं। अभी कई और किसानों की फसल डूबने की आशंका है।
विजय पांडेय
माइनर में आई कटान से पांच बीघे में बोई सरसों की फसल नष्ट हो गई है। माइनर में तेज गति से पानी के बहाव की वजह से फसल जलमग्न होती जा रही है। प्रशासन की ओर से कोई पहल नहीं किए जाने से हजारों बीघे फसल जलमग्न होकर बर्बाद हो जाएगी।
-जानकी शरण
दो बीघे आलू, तीन बीघे गेहूं और चार बीघे सरसों की फसल बो रखी थी। माइनर में कटान से पूरी फसल जलमग्न होकर बर्बाद हो जाएगी। खेतों से पानी निकालने की कोई व्यवस्था नहीं होने से फसल के बर्बाद होने से लागत निकलना भी मुश्किल है।
-हरीश त्रिपाठी
आठ बीघे गेहूं और पांच बीघे आलू की फसल बोई है। माइनर में कटान से पूरी फसल जलमग्न हो गई है। अगर माइनर की साफ-सफाई कराई गई होती तो कटान नहीं होता। लेकिन अफसर कागजों पर माइनर की सफाई कराकर बजट निकाल लेते है। इससे बाद में किसानों को परेशानी उठानी पड़ती है।
-लवकुश पांडेय

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00